Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हर ब्लाक में खोले जाएंगे मॉडल संस्कृति स्कूल

डॉ बनवारी लाल रेवाड़ी के बावल खण्ड के गढ़ी बोलनी गांव के राजकीय मॉडल संस्कृति वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय का उद्घाटन करने के उपरांत लोगों को संबोधित कर रहे थे।

हर ब्लाक में खोले जाएंगे मॉडल संस्कृति स्कूल
X

डॉ बनवारी लाल

हरियाणा के सहकारिता मंत्री डॉ बनवारी लाल ने कहा है कि प्रदेश के बच्चों को गुणवत्तापरक शिक्षा मिले, इसके लिए राज्य सरकार ने प्रदेश के हर ब्लाक में मॉडल संस्कृति स्कूल खोलने का निर्णय लिया है।

डॉ बनवारी लाल रेवाड़ी के बावल खण्ड के गढ़ी बोलनी गांव के राजकीय मॉडल संस्कृति वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय का उद्घाटन करने के उपरांत लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि रेवाडी जिला के पांच एजुकेशन खण्डों में एक-एक स्कूल को मॉडल संस्कृति स्कूल का दर्जा दिया गया है, जिनमें बावल खण्ड के गढी बोलनी, खोल खण्ड के पिथड़वास, नाहड खण्ड के गुडियानी, रेवाडी खण्ड के ततारपुर व जाटूसाना खण्ड के बोडिया कमालपुर का स्कूल शामिल हैं ।

सहकारिता मंत्री ने कहा कि शिक्षा के प्रचार-प्रसार के लिए प्रत्येक 15 किलोमीटर तक राजकीय महाविद्यालय खोले जा रहे हैं । उन्होंने बताया कि रेवाडी जिला में बहुतकनीकी संस्थान, कॉलेज, आईटीआई, कृषि महाविद्यालय व संस्कृति मॉडल स्कूल खोले गए हैं ताकि जिस बच्चे का किसी भी क्षेत्र में रूचि हो वह उस फिल्ड में जा सके।

डॉ बनवारी लाल ने कहा कि दक्षिणी हरियाणा में एक नया दुग्ध संयंत्र स्थापित किया जाएगा जिसकी क्षमता 3 लाख लीटर पैकिंग प्रतिदिन होगी। इसके अलावा अनुसूचित जाति के मेधावी विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करने के लिए डॉ अंबेडकर मेधावी छात्र योजना के तहत कक्षा 11वीं, स्नातक के प्रथम वर्ष और स्नाकोत्तर पाठ्यक्रमों के प्रथम वर्ष में 8000 रुपये से लेकर 12,000 रुपये प्रति वर्ष तक की छात्रवृत्तिया दी जा रही हैं। पिछड़े वर्गों के विद्यार्थियों को दसवीं कक्षा के उनके अंकों के आधार पर छात्रवृत्तियां दी जा रही हैं। सरकार 2 लाख 50 हजार रुपये तक की वार्षिक आय वाले अनुसूचित जाति और पिछड़े वर्गों के उम्मीदवारों को विभिन्न प्रतियोगी और प्रवेश परीक्षाओं जैसे सिविल सेवा परीक्षा, बैंकिंग, रेलवे, एसएससी, एचटीईटी, सीजीएल और एनईईटी व जेईई इत्यादि के लिए प्रतिष्ठित संस्थानों के माध्यम से मुफ्त कोचिंग प्रदान कर रही है।

मंत्री ने कहा कि बावल क्षेत्र में जितना विकास वर्तमान सरकार के कार्यकाल में हुआ है, उतना पहले की सरकारों में कभी नहीं हुआ। आज बावल की सभी सडक़े पक्की हैं और शहर में जाने आने के लिए कोई असुविधा नहीं है।

Next Story