Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

समलैंगिक और यौन मुद्दों के लिए सहाय हेल्पलाईन, TOLL FREE 1800-2000-113

31 मई, 2014 को समाप्त हुए सहाय इस ऑपरेशनल परिसंधान परियोजना ऑपरेशनल रिसर्च प्रोजेक्ट के अंतर्गत डेटा मॉनिटरिंग और रिसर्च डेटा एकत्रित किया हैं।

समलैंगिक और यौन मुद्दों के लिए सहाय हेल्पलाईन, TOLL FREE 1800-2000-113
X

अग्रवाल बताते है कि भारत में वो पुरुष अपनी स्थिति को लोगों से छुपा लेते हैं और किसी से भी अपने साथ हुए शोषण को बया नहीं करते। खासतौर पर वह पुरुष जो शादी कर लेते हैं उसका मुख्य कारण उन्हें शर्म सहसूस करना होता है अगर वह अपनी कहानी बताते हैं तो वह अपने परिवार से नजरे नहीं मिला पाएंगे। वह यह भी बताते हैं कि लगभग 27.1 प्रतिशत लोग एचआईवी और उससे होने वाली बीमारी के बारे में जानने के लिए बात करते हैं।

Next Story