Logo
election banner
Parenting Tips: गर्मी की छुट्टी के फ्री वक्त में बच्चा अगर ज्यादा मोबाइल देखता है तो ये लत में तब्दील हो सकता है। 5 तरीकों से बच्चे को इससे बचाया जा सकता है।

Parenting Tips: गर्मी की छुट्टियां बच्चों के लिए ढेर सारी मस्ती और नई चीजें सीखने का वक्त होता है। हालांकि आजकल ज्यादातर बच्चे अपना फ्री टाइम मोबाइल देखने में निकाल देते हैं। पैरेंट्स का इस ओर ध्यान न देना एक बड़ी मुसीबत को बुलावा देता है। बच्चों का घंटों तक मोबाइल देखना उनकी ओवरऑल ग्रोथ को प्रभावित कर सकता है। ऐसे में पैरेंट्स के लिए ये जरूरी है कि समर वैकेशन में बच्चों के लिए कुछ नियम बनाएं और उन्हें ऐसी चीजों में व्यस्त रखें जिससे उनका पूरा दिन मौज मस्ती के साथ नया सीखने में बीते। 

हर घर में गर्मी की छुट्टियां लगते ही बच्चों की धमा-चौकड़ी शुरू हो जाती है। बच्चों की नेचुरल ग्रोथ के लिए ये जरूरी भी है। हालांकि उनकी एनर्जी को कुछ तरीकों से पॉजिटिव दिशा में लगाया जा सकता है। 

बच्चों के लिए 5 बातें रखें ध्यान

रोल मॉडल बनें - बच्चों को अगर मोबाइल से दूर रखना है तो उनके सामने खुद का आदर्श प्रस्तुत करना होगा। बच्चा पैरेंट्स को देखकर ज्यादातर चीजें सीखता है। आप जो भी एक्टिविटी करेंगे बच्चा उसे दोहराएगा। ऐसे में बच्चों के सामने मोबाइल का कम से कम उपयोग करें। 

इसे भी पढ़ें: Parenting Tips: लापरवाह बच्चा भी बन जाएगा जिम्मेदार, माता-पिता अपनाएं 5 पैरेंटिंग टिप्स, आएंगे बहुत काम

टाइम टेबल बनाएं - गर्मी के दिनों में बच्चों को सुबह से ही व्यस्त रखने की तैयारी कर लें। इसके लिए उनका टाइम टेबल बनाएं। उनके का समय खेलने का समय, नई चीजें सीखने का वक्त आदि चीजें इसमें शामिल करें। बच्चा जितना ज्यादा इंगेज रहेगा उतना कम उसका ध्यान मोबाइल पर जाएगा।

फन एक्टिविटी में लगाएं - बच्चों को मोबाइल से दूर रखने का सबसे अच्छा तरीका है उन्हें फन एक्टिवटी में लगाएं। इनडोर गेम्स, बुक रीडिंग, गार्डन में खेलना जैसी एक्टिविटी बच्चे बड़े चाव से करते हैं। 

अनुशासन सिखाएं - बच्चों की छुट्टियां लग गई इसका मतलब ये कतई नहीं है कि वे अनुशासनहीन हो जाएं। बच्चों को पहले से हिदायत दें कि गलती करेंगे तो सजा मिलेगी। अनुशासन बरतने के लिए थोड़ी सख्ती बरतनी पड़े तो उससे भी गुरेज न करें। 

इसे भी पढ़ें: Parenting Tips: इमोशनली वीक है आपका बच्चा? 6 तरीकों से उसे बनाएं भावनात्मक रूप से मजबूत

सोशल गैदरिंग - बच्चों को सामाजिक तौर पर व्यवहारिक बनाना भी बेहद जरूरी है। ऐसे में उन्हें दोस्तों, नाते रिश्तेदारों से मिलने जुलने से न रोकें। चाहें तो आप भी उनके साथ कहीं घूमने का प्लान करें और आसपास के लोगों से संपर्क बढ़ाना सिखाएं। 

5379487