Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

..तो इसलिए मां के हांथ से बना खाना होता है स्वादिष्ट

मां के दाल चावल के सामने बड़े से बड़े होटलों का खाना भी फीका होता है।

..तो इसलिए मां के हांथ से बना खाना होता है स्वादिष्ट
नई दिल्ली. मां के हांथों का बना हुआ खाना फाइव स्टार के खाने से भी लाख गुना टेस्टी होता है। मां के खाने के सामने बड़े से बड़े होटलों का खाना भी फीका होता है। लेकिन क्या आपने कभी ये जानने की कोशिश की है कि आखिर मां के हांथों का बना खाना इतना टेस्टी क्यों होता है? आखिर क्यों मां के दाल और चावल का हर कोई इतना दिवाने है? इन सभी सवालों के जवाब हमारे पास हैं।
दरअसल, इन बात पर रिसर्च किया और रिसर्च से पता चला कि जो खाना प्यार से और मन से पकाया जाता है वह तुलनात्मक रूप से अधिक स्वादिष्ट होता है। रिसर्चर्स का कहना है कि मां का खाना स्वादिष्ट इसलिए होता है क्योंकि इसके पीछे एक भावनात्मकता है यानी इमोशनल परसेप्शन है। उनका कहना है कि जिस भी खाने को प्यार और खुशी के साथ पूरा वक्त देकर, और इसके अलावा जिसके लिए बनाया जा रहा है दिमाग में उसका ख्याल रहे तो खाना बनाया जाता है, तो ऑटोमैटिक स्वादिष्ट ही लगता है। बता दें कि ब्रिटेन के साइकोलॉजिस्ट क्रिस्टी फरगसन के मुताबिक, कई रिसर्च के बाद इस बात का खुलासा हो गया है कि जो चीजें प्यार और लगन से बनाई जाती है वो अधिक टेस्टी होती है। बशर्ते जो शख्स खाना बना रहा है उसकी नीयत अच्छी होनी चाहिए। खाना बनाते वक्त उसका मूड कैसा है ये भी काफी अहम होता है।
हाल ही में ब्रिटेन के बर्ड्स आई-फ्रोजन फूड फर्म द्वारा एक सर्वे कराया गया। इस सर्वे में एक ही वक्त में दो तरह के खाने को रखा गया। इसके लिए टीम ने दो ग्रुप बनाए और उन्हें डिनर सर्व किया। इन्हे अलग अलग कमरे में बिठाया गया। पहले ग्रुप को एक ऐसा कमरे में बिठाया गया जिसे खूबसूरती से सजाया गया था। और इन लोगों से कहा गया उन्हे ऐसा डिनर दिया गया है जो बेहद प्यार और मन से बनाया गया है। तो वहीं दूसरे ग्रुप को तो वहीं दूसरे ग्रुप को ऐसा खाना दिया गया जिसे कम मेहनत से तैयार किया गया है। यानी खाना बनाने वाला बहुत ही बेमन से खाना बनाया था। जब दोनों ग्रुप से खाने के बारे में पूछा गया तो करीब 58 फीसदी लोगों ने अपेक्षाकृत अपना खाया हुआ खाना अधिक पसंद किया। उनका कहना था कि खाना था तो बहुत सिंपल लेकिन वाकई बहुत टेस्टी था।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top