Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

महिलाओं को जीवन में कामयाबी को रखना है बरकरार, तो खुद में करें 4 खास बदलाव

सफलता मिलने पर कुछ लोग ऐसी गलतियां करते हैं, जिसके कारण वे उसे संभाल नहीं पाती हैं। इस वजह से मेहनत से पाई कामयाबी बरकरार नहीं रह पाती है। लेकिन कुछ सूत्रों पर अमल करें तो आपकी कामयाबी हमेशा बरकरार रहेगी।

महिलाओं को जीवन में कामयाबी को रखना है बरकरार, तो खुद में करें 4 खास बदलाव
X

Life Success Tips : कहते हैं कि असफल होने पर खुद को संभालना होता है और सफल होने पर भी सफलता को संभालना होता है। यह सच है क्योंकि शिखर पर पहुंचकर डगमगाने वालों के उदाहरण भी कम नहीं। चाहे-अनचाहे कभी आत्ममुग्धता आ घेरती है तो कभी व्यक्तित्व के हर पहलू पर असहजता कब्जा जमा लेती है। कभी कुछ हासिल कर लेने की सोच हर किसी से टकराव के हालात बना देती है तो कभी सफलता का गुरूर ठहराव छीन लेता है। ऐसे में कामयाबी को संभालने की समझ बहुत जरूरी है। ऊंचाइयों पर पहुंचने के बाद संतुलन ना रहे तो गिरते देर नहीं लगती। यह बात सभी पर लागू होती है। अगर आपको भी लंबे संघर्ष, कठिनाइयों के बाद सफलता मिली है तो उसे संभालने का तरीका जरूर जानें।

सहजता बनी रहे

कामयाब होने की राह में ही नहीं, कामयाबी हासिल हो जाने पर भी सहज बने रहना जरूरी है। सरलता भरा व्यवहार अपने मन को तो सुकून देता ही है, दूसरों से भी आपको जोड़े रखता है। दरअसल, व्यवहार की सहजता, सफलता के शिखर पर पहुंचने की यात्रा में आपके साथी रहे लोगों का भी साथ बनाए रखती है। अहंकार से परे रखने वाली सहजता हर परिस्थिति में शांत और सरल रहना सिखाती है। इसके अलावा जो कुछ आपने हासिल किया है, उसे बनाए रखने में भी सहजता बेहद जरूरी है।

स्वीकार करें आलोचना

आमतौर पर देखने में आता है कि कुछ पाने और बन पाने की दौड़ में अपनी आलोचना को लेकर जितनी स्वीकार्यता होती है, सफल होने के बाद वह लगभग खत्म ही हो जाती है। यह बेहद नकारात्मक सोच है। कामयाब होने के बाद भी कोई हर तरह से मुकम्मल नहीं हो जाता है। कई बार अचानक सफलता मिलने से मन अहंकार से भर जाता है, फिर ना तो खुद को अपनी गल्तियां दिखाई देती हैं और ना ही किसी और के दिखाने से कोई कमियां नजर आती हैं। ऐसी गलती ना करें। हमेशा जमीन से जुड़ी रहें, साथ ही दूसरों की कही बातों को लेकर खुद का रिव्यू भी करें। पॉजिटिव सोच के साथ उन बातों पर विचार करें, उन्हें दूर करने की कोशिश करें। कामयाबी को संभालने के लिए यह उदार सोच बहुत जरूरी है।

ठहराव ना आए

आप जितनी भी सफल हो जाएं, अपनी फील्ड में कितनी भी आगे क्यों ना पहुंच जाएं। कामयाबी की दौड़ में बने रहने के लिए भी मेहनत और प्रतिबद्धता की दरकार होती है। इसके लिए आगे बढ़ते रहने की सोच हर हाल में बनी रहनी चाहिए। बेहतरी की कोशिशें करने के लिए हर उम्र सही है। नई-नई चीजें सीखती रहें। अधिकतर सफल महिलाओं के जीवन को देखें तो वे शिकायत नहीं बल्कि सीखते रहने का ही रास्ता चुनती हैं।

खुद से हो मुकाबला

जिंदगी के सफर में फर्श से उठने के लिए हौसला चाहिए तो अर्श पर बने रहने के लिए समर्पण और परिश्रम की जरूरत होती है। ऐसे में अपने आपको बेहतर बनाने की सोच भी कामयाबी को संभालने में मददगार बनती है। लेकिन ध्यान रहे, यह सोच दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करने तक ही ना सिमट जाए। कामयाबी की दौड़ में यह होड़ खुद अपने आप से हो। सामाजिक-पारिवारिक माहौल में अगर आप सफल हैं तो ना सिर्फ खुद को खास समझने की गलती हो जाती है बल्कि आपसे जुड़े लोग भी इस सुप्रिमेसी के भाव को और बढ़ावा देने लगते हैं लेकिन विफलता के दौर में वो ही सबसे पहले आपका साथ छोड़ते हैं। ऐसे में सफलता के गुरूर में ना खुद को बहकने दें और ना ही दूसरों के बहकावे में आएं। बस, हमेशा खुद को बेहतर बनाने की तरफ कदम बढ़ाती रहें।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story