Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

International Yoga Day 2019 : अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर जानें चक्रासन के फायदे

International Yoga Day 2019 : आज 21 जून यानि शुक्रवार को पूरी दुनिया अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2019 (International Yoga Day 2019) मना रही है। योग (Yoga) और प्राणायाम का इतिहास (Pranayam History) भारत (India) में प्राचीन काल (Ancient)यानि लगभग साढ़े चार हजार साल पुराना रहा है। योग और प्राणायाम बिना किसी साइड इफेक्ट के स्वस्थ रहने का सबसे आसान तरीका है। योग पद्धति में अलग-अलग बीमारियों के लिए अलग-अलग योगासनों (Yogaasan) के बारे में उल्लेख मिलता है। इसके नियमित अभ्यास से शारीरिक (Physical) के साथ मानसिक (Mentally) स्वास्थ्य लाभ लिया जा सकता है। इसलिए आज हम आपको चक्रासन के फायदे (Chakrasan Benefits) चक्रासन को करने का सही तरीका बता रहे हैं। चक्रासन को अंग्रेजी में चक्रासन को (Wheel Exercise) कहा जाता है।

International Yoga Day 2019 Chakrasan BenefitsInternational Yoga Day 2019 Chakrasan Benefits

International Yoga Day 2019 : आज 21 जून यानि शुक्रवार को पूरी दुनिया अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2019 (International Yoga Day 2019) मना रही है। योग (Yoga) और प्राणायाम का इतिहास (Pranayam History) भारत (India) में प्राचीन काल (Ancient)यानि लगभग साढ़े चार हजार साल पुराना रहा है। योग और प्राणायाम बिना किसी साइड इफेक्ट के स्वस्थ रहने का सबसे आसान तरीका है। योग पद्धति में अलग-अलग बीमारियों के लिए अलग-अलग योगासनों (Yogaasan) के बारे में उल्लेख मिलता है। इसके नियमित अभ्यास से शारीरिक (Physical) के साथ मानसिक (Mentally) स्वास्थ्य लाभ लिया जा सकता है। इसलिए आज हम आपको चक्रासन के फायदे (Chakrasan Benefits) चक्रासन को करने का सही तरीका बता रहे हैं। चक्रासन को अंग्रेजी में चक्रासन को (Wheel Exercise) कहा जाता है।





चक्रासन करने का पहला तरीका :

1. चक्रासन करने के लिए सबसे पहले एक दरी या योगा मेट पर सीधे खड़े और पैरों को थोड़ा सा खोल लें।

2 अब एक गहरी सांस लेते हुए अपने दोनों हाथों को सिर से ऊपर सीधा करके उठाएं और धीरे-धीरे पीछे की तरफ झुके।

3. पीछे झुकते हुए अपने दोनों हाथों को जमीन पर रखें, फिर इस स्थिति में कुछ देर रूकें।

4. इसके बाद धीरे-धीरे सामान्य रुप से सांस लेते हुए पहले वाली स्थिति में वापस आ जाएं।

चक्रासन करने का दूसरा तरीका :

1. चक्रासन करने के लिए सबसे पहले एक योग मैट पर सीधा लेट जाएं, फिर अपने पैरों को 10-12 इंच की दूरी पर खोलें।

2. इसके बाद अपने दोनों हाथों को सिर के पास हथेली के बल रखें और फिर धीरे-धीरे अपने घुटनों शरीर और हाथों को ऊपर की ओर उठाएं और एक चक्र यानि गोल आकार बनाएं।

3. आसन के दौरान सामान्य रूप से सांस लेते रहेँ। इसके बाद कुछ देर उस स्थिति में रूकें।

4. इसके बाद धीरे-धीरे अपने हाथ और पैर को मोड़ते हुए वापस पहले वाली अवस्था यानि जमीन पर सीधा लेट जाएं और कुछ देर शवासन करें।




चक्रासन के फायदे :

1. अगर आप गलत खान-पान की वजह से अक्सर पेट संबंधी रोगों से परेशान रहते हैं, तो ऐसे में नियमित रुप से चक्रासन करना फायदेमंद रहेगा। चक्रासन करने से पाचन तंत्र मजबूत होता है।

2.रोजाना 5-10 मिनट चक्रासन करने से रीढ़ की हड्डी और कमर मजबूत होती है। जिससे कमर दर्द से राहत मिलती है।

3.चक्रासन का नियमित अभ्यास करने से पेट की बढ़ी हुई चर्बी यानि मोटापे और ज्यादा वजन को आसानी से कम किया जा सकता है।

4. अगर आप तनाव और डिप्रेशन से ग्रस्त हैं, तो ऐसे में चक्रासन करने से लाभ मिलेगा और आप तेजी से डिप्रेशन से बाहर आ सकेगें।

5.चक्रासन करने से पीरियड्स में होने वाले कमर दर्द से राहत मिलती है। इसके अलावा फेफड़ों यानि सांस संबंधी रोगों के साथ आलस से भी मुक्ति मिलती है।

Share it
Top