Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

इस टेस्ट से 15 साल पहले पता चल जाएगी ''दिल की बीमारी''

जिन लोगों के खून में ट्रापोनिन की मात्रा अधिक होती है उनमें इस बीमारी का खतरा भी अधिक होता है

इस टेस्ट से 15 साल पहले पता चल जाएगी
नई दिल्ली. दिल की बीमारी का पता तब लगता है जब आपको दिल की बीमारी हो जाती है। लेकिन शोधकर्ताओं का कहना है कि आपको दिल की बीमारी का खतरा हो सकता है या नहीं इसका पता 15 साल पहले ही लगाया जा सकेगा। इससे आप खुद का बचाव कर सकते हैं। इडिनबर्ग और ग्लासगो यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं का कहना है कि उन्होने खून के जांच की एक ऐसी विधि की खोज की है, जिसमें 15 साल पहले ही दिल की बीमारी का पता लगाया जा सकेगा। खून जांच की इस विधि का नाम ट्रापोनिन टेस्ट है।
उन्होंने कहा, खून की जांच कोलेस्ट्राल और रक्तचाप के परीक्षण से ज्यादा कारगर है। रिसर्चर्स ने बताया कि जांच का यह नया तरीका लोगों के लिए बेहद फायदेमंद होगा। इसमें डॉक्टर्स वक्त रहते हुए इलाज कर सकते हैं और लाखों दिल के रोगियों को इस बीमारी से बचा सकते हैं। दिल की बीमारी से लोगों की मौत तक हो जाती है। ऐसे में ये विधि बेहद फायदेमंद है। इतना ही नहीं शोधकर्ताओं ने इस नए विधि का टेस्ट फिलहाल सिर्फ पुरुष मरीजों पर ही किया है लेकिन ब्रिटिश हार्ट फाउंडेशन ने कहा कि यह महिला मरीजों के लिए भी कारगर है।
दरअसल, जब दिल की मांसपेशियां खराब होने की कगार पर होती है तो उनमें से एक प्रोटीन 'ट्रापोनिन' खून में मिलना शुरू हो जाता है। ट्रापोनिन की मात्रा जब बढ़ती है तो उससे करीब 25 फीसदी खतरा बढ़ जाता है। और इस ट्रापोनिन का पता इस जांच से पता लगाया जा सकता है। और समय रहते हुए इलाज किया जा सकता है। प्रोफेसर निकोलस मिल्स का कहना है कि जिन लोगों के खून में ट्रापोनिन की मात्रा अधिक होती है उनमें मौत का खतरा भी अधिक होता है।
केवल 420 रुपये में होगा टेस्ट
इस खून की जांच के लिए आपको सिर्फ 420 रुपए खर्च करने पड़ेंगे। ये टेस्ट बेहद सस्ती है जिससे अधिकांश लोग इसका फायदा उठा सकेंगे। इस टेस्ट में आपको कम पैसे के साथ अपना कम वक्त भी देना पड़ेगा। इस टेस्ट में 30 मिनट का समय लगेगा। शोध से जुड़े प्रोफेसर डेविड न्यूबाई ने कहा, ट्रापोनिन शरीर में एक मापदंड की तरह है इसका बढ़ना दिल के बेहद खतरनाक है। डॉक्टर्स का कहना है कि अब तक दिल की बीमारी का पता लगाना काफी मुश्किल था लेकिन इस नए टेस्ट से इसका आसानी से पता लगाया जा सकेगा।
साभार- hindustan
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top