logo
Breaking

रक्तदान ही है महादान, दूसरों का जीवन बचाने में मिलता है सुख

आज रक्तदान दिवस है।

रक्तदान ही है महादान, दूसरों का जीवन बचाने में मिलता है सुख
नई दिल्ली. रक्तदान का महत्व हमें उस वक्त समझ आता है, जब हमारा कोई अपना प्रियजन हॉस्पिटल में रक्त के लिए जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहा होता है। हम परेशान होते हैं कि काश कोई व्यक्ति हमारे अपने की जिंदगी के लिए रक्त दे दे और उसे बचा ले। जब रक्तदान का इतना अधिक महत्व है और हमें इसका कोई नुकसान भी नहीं होता तो क्यों न हम भी नियमित रूप से रक्तदान करें। आज रक्तदान दिवस है। तो इस अवसर पर क्यों न प्रण लें कि अब हम भी रक्तदान करेंगे। रक्तदान के फायदों के बारे में हम आपको बता रहे हैं आज।
दिल्ली या दूसरे तमाम शहरों में आपने अक्सर रक्तदान शिविर देखे होंगे। इनमें स्वस्थ व्यक्ति अपना रक्त अपनी इच्छा से दान करता है। मन में सवाल पैदा होता है कि आखिर ये रक्तदान शिविर क्यों लगाए जाते हैं और दानकर्ताओं के रक्त का क्या किया जाता है? यह तथ्य है कि भारत में रक्त ना मिल पाने के कारण हर साल लाखों लोगों की मौत हो जाती है। अगर इन लोगों को सही समय पर रक्त मिल जाए तो इन जानों को बचाया जा सकता है। इसी मकसद से भारत में सरकारी और गैर सरकारी स्तर पर रक्तदान शिविरों का आयोजन किया जाता है। जाहिर है आपके द्वारा किया गया रक्तदान सबसे बड़ा दान माना जाता है, क्योंकि इससे आप किसी दूसरे व्यक्ति की जिंदगी बचा सकते हैं। कई बार तो वह रक्तदान आपके किसी अपने के भी काम आ जाता है। रेड क्रॉस सोसायटी, नाको जैसी कई राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय संस्थाएं देश भर में रक्तदान के लिए जागरूकता फैला रही हैं।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, आज का दिन रक्तदान दिवस क्यों है -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Share it
Top