Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

तो आखिर इस कारण दिलीप कुमार को ''ट्रेजिडी किंग'' की मिली थी उपाधि, जानें उनके जीवन से जुड़ी खास बातें

बॉलीवुड में पहले खान और ट्रेजिडी किंग के नाम से पहचाने जाने वाले अभिनेता को मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्होंने बॉलीवुड को एक से बढ़कर एक फिल्में दी हैं।

तो आखिर इस कारण दिलीप कुमार को

बॉलीवुड में पहले खान और ट्रेजिडी किंग के नाम से पहचाने जाने वाले अभिनेता को मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बता दें कि दिलीप कुमार ने हिंदी सिनेमा को एक से बढ़कर एक फिल्में दी हैं।

दिलीप कुमार की पहली फिल्म 'ज्वार भाटा' थी। इसी फिल्म के साथ दिलीप कुमार ने बॉलीवुड में डेब्यू किया था। इसके बाद दिलीप कुमार ने बॉलीवुड को एक से बढ़कर एक सुपरहिट फिल्में दीं।

'शभनम', 'मुगल-ए-आजम', 'देवदास', 'आग', 'सौदागर' आदि फिल्में दिलीप कुमार ने बॉलीवुड को दी। करीब 6 दशकों कर हिंदी सिनेमा में काम करने के बाद दिलीप कुमार ने बॉलीवुड से किनारा कर लिया।

बता दें कि दिलीप कुमार ने बॉलीवुड की कई दुखद प्रेम कहानियों में अहम किरदार निभाया था। जैसे 'नदिया के पार', 'मेला', 'अंदाज' आदि। इसी कारण से उन्हें बॉलीवुड में ट्रेजिडी किंग की उपाधि मिल गई।

दिलीप कुमार की आखिरी फिल्म 'सौदागर' थी। लेकिन इसके बाद दिलीप कुमार की तबीयत बिगड़ने लगी और आज वह फिल्म इंडस्ट्री से कोसों दूर हैं। वैसे आपको बता दें कि दिलीप कुमार की पर्सनल लाइफ भी काफी चर्चा में रही थी।

1962 में दिलीप कुमार ने सायरा बानो से शादी की थी। लेकिन उनकी लव-लाइफ भी काफी चर्चा का विषय रही थी। दिलीप कुमार शादी-शुदा होते हुए भी अभिनेत्री आस्मा से प्यार करने लगे थे। लेकिन सायरा बानो ने दिलीप और आस्मा दोनों का ये रिश्ता पनपने नहीं दिया।

दिलीप कुमार को 1991 में पद्म भूषण और 2015 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था। साथ ही उन्हें 1994 में दादा साहेब फाल्के से भी सम्मानित किया गया था।

Next Story
Top