Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गिरा दी जाएगी किशोर कुमार की आखिरी निशानी ''गांगुली हाउस'', देखें तस्वीरें

जब किशोर कुमार खंडवा से मुंबई चले गए थे, तब वह यहां वापस लौटने को कहा करते थे, लेकिन उनका ये सपना कभी पूरा न हो सका।लेकिन किशोर दा की आखरी इच्छा को पूरा करने के लिए उनके निधन के बाद उनके पार्थिव शरीर को उन्हीं के कमरे में लाया गया था।
Next Story