Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मैगी के नुकसान : दो मिनट में बनने वाली मैगी में सीसा किडनी को कर देगा डेमेज

घर में अकेले हों या दोस्तों के साथ चिल आउट करना हो, तो ऐसे में अक्सर बच्चे और बड़े 2 मिनट में बनने वाली मैगी खाना पसंद करते हैं। लेकिन हाल ही में आई एक सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक, नेस्ले इंडिया कंपनी की मैगी (Maggi) खाना सेहत के लिए बेहद नुकसानदायक है। क्योंकि इसमें लैड यानि सीसा नामक तत्व तय मात्रा से काफी ज्यादा पाया गया है। मैगी(Maggi) के लगातार सेवन करने से किडनी के फेल होने और कैंसर जैसी गंभीर बीमारी का खतरा बढ़ जाता है।

मैगी के नुकसान : दो मिनट में बनने वाली मैगी में सीसा किडनी को कर देगा डेमेज

Maggi Ke Nuksan

घर में अकेले हों या दोस्तों के साथ चिल आउट करना हो, तो ऐसे में अक्सर बच्चे और बड़े 2 मिनट में बनने वाली मैगी खाना पसंद करते हैं। लेकिन हाल ही में आई एक सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक, नेस्ले इंडिया कंपनी की मैगी (Maggi) खाना सेहत के लिए बेहद नुकसानदायक है। क्योंकि इसमें लैड यानि सीसा नामक तत्व तय मात्रा से काफी ज्यादा पाया गया है। मैगी(Maggi) के लगातार सेवन करने से किडनी के फेल होने और कैंसर जैसी गंभीर बीमारी का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए आज हम आपको 2 मिनट में बनने वाली मैगी के नुकसान बता रहे हैं। जिसे जानकर आप अपने साथ-साथ बच्चों और अन्य लोगों को मैगी के नुकसान (Maggi Side Effects) से बचा सकते हैं।

मैगी के नुकसान (Maggi Side Effects)

1. ट्रांस फैट के नुकसान

मैगी को बनाने से पहले बस गर्म पानी में उबालना होता है, क्योंकि ये पहले से ही ट्रांस फैट में फ्राई हुई होती है। ट्रांस फैट सेहत के लिए बेहद नुकसानदायक होती है। इसलिए जब भी हम मैगी खाते हैं, तो उससे हमें ट्रांस फैट के साइड इफेक्ट्स सेहत पर पड़ते हैं।

2. पाचन तंत्र को करती है कमजोर

मैगी आटे के साथ-साथ मैदा से भी बनी होती है जिसकी वजह से ये हमारे पेट की आंतों में चिपक जाती है और पाचन तंत्र को बहुत नुकसान पहुंचाती हैं। इसलिए इसका सेवन लगातार नहीं करना चाहिए।

3.प्रजनन क्षमता को करती है कम

मैगी में पाए जाने वाला सीसा (लैड) के सेवन करने से शरीर की प्रजनन क्षमता पर बुरा असर पड़ता। अगर मैगी को लगातार खाया जाता है, तो ऐसे में धीरे-धीरे प्रजनन क्षमता बेहद कम हो जाती है।

4. कैंसर और किडनी की समस्या

मैगी में मौजूद लेड यानि सीसा के ज्यादा सेवन करने से शरीर में कैंसर और किडनी के खराब होने जैसी गंभीर बीमारी भी हो सकती है।

5.कब्ज और जोड़ों का दर्द

अगर आप भी रोजाना या सप्ताह में 2-3 बार मैगी खाते हैं। मैदा से बने होने के कारण मैगी का अधिक सेवन से यह आंत में चिपक जाती है जिससे कब्ज की समस्या तो ऐसे में आपको कब्ज और जोड़ों में दर्द होने की शिकायत हो सकती है।

6. बच्चों के विकास में डालती है बाधा

आमतौर पर बच्चे मैगी खाना बेहद पसंद करते हैं। लेकिन ये खाने से शरीर में पेट, सिर और किडनी से जुड़ी बीमारियां होने की वजह से शारीरिक विकास रूक जाता है।

7.सिरदर्द की समस्या

लगातार मैगी खाने की वजह से बच्चों में अक्सर भूख न लगने के साथ ही सिरदर्द की शिकायत होने लगती है।

8. पौषक तत्वों की होती है कमी

मैगी आमतौर पर मैदा से बनाई जाती है। इसमें आटे और सब्जियों के पौषक तत्व बेहद ही कम मात्रा में डाले जाते हैं। जिसकी वजह से बच्चों को खाने वाले पौषक तत्व नहीं मिल पाते।

9.दिमाग के विकास को रोकती है

मैगी के ज्यादा सेवन करने से बच्चों के मानसिक विकास पर बेहद बुरा असर पड़ता है। ऐसे में अगर गर्भवती महिलाएं मैगी का सेवन करती हैं, तो इसमें पाए जाने वाले लेड की वजह से गर्भ में पल रहे शिशु के आईक्यू पर असर पड़ता है।

10. लीवर में सूजन

मैगी में मैदा और बेहद खराब क्वालिटी प्रिजरवेटिव्स का इस्तेमाल होने की वजह से, बार-बार मैगी खाने से लीवर में सूजन आने का खतरा बढ़ जाता है। जिसके कारण बच्चों में पेट में दर्द की शिकायत हो सकती है।
Next Story
Top