Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Sunday Special: क्या आप जानती हैं कि क्यों प्रेग्नेंसी के आखिरी दिनों में महिला की हिम्मत दे जाती है जवाब?

Sunday Special: जैसे जैसे डिलीवरी की तारीख पास आती है, वैसे ही महिला की बैचेनी बढ़ने लगती है। महिला इस बात को लेकर काफी परेशान रहती है कि पता नहीं क्या होगा, कैसे होगा। कई बच्चे को कोई दिक्कत तो नहीं होगी, बच्चा हेल्दी होगा न। आपको बता दें कि कुछ बच्चे 42 हफ्ते में हो जाते हैं। वहीं कुछ बच्चों की प्रीमैच्योर डिलीवरी होती है।

Sunday Special: क्या आप जानती हैं कि क्यों प्रेग्नेंसी के आखिरी दिनों में महिला की हिम्मत दे जाती है जवाब?
X

 Sunday Special: क्या आप जानती हैं कि क्यों प्रेग्नेंसी के आखिरी दिनों में महिला की हिम्मत दे जाती है जवाब? (फाइल फोटो)

Sunday Special: गर्भावस्था के दौरान जहां तरफ एक्साइटमेंट और खुशी होती है। वहीं दूसरी तरफ महिला के मन में डर और शंका भी बना रहता है। मन में तरह तरह के ख्याल आते हैं। वहीं शरीर में कई बदलाव महिला की चिंता भी बढ़ा देते हैं। समय के साथ साथ महिला की बॉडी में कई चेंजेस होने लगते है। हाथ - पैरों में सूजन भी होने लगती है। ऐसे में गर्भावस्था के आखिरी दिनों में मुश्किलें ज्यादा बढ़ जाती हैं। ऐसे में महिलाएं कई रात सोती नहीं हैं। इसी बीच आज हम आपको बताएंगे कि गर्भावस्था के आखिरी दिनों में महिलाओं की हिम्मत क्यों दे देती है जवाब।

जैसे जैसे डिलीवरी की तारीख पास आती है, वैसे ही महिला की बैचेनी बढ़ने लगती है। महिला इस बात को लेकर काफी परेशान रहती है कि पता नहीं क्या होगा, कैसे होगा। कई बच्चे को कोई दिक्कत तो नहीं होगी, बच्चा हेल्दी होगा न। आपको बता दें कि कुछ बच्चे 42 हफ्ते में हो जाते हैं। वहीं कुछ बच्चों की प्रीमैच्योर डिलीवरी होती है। ऐसे में कई बार डॉक्टर भी घबरा जाते हैं। डॉक्टर को डर रहता है कि कहीं बच्चा पेट में ही पॉटी न कर दे, गले में नाल न फंस जाए। ऐसे में इंफेक्शन होने का डर बना रहता है। इन सब चीजों के लिए महिला मेनटली तैयार नहीं होती है।

इस वक्त हो जाएं अलर्ट

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि म्यूकस निकलने के बाद महिला को अलर्ट हो जाना चाहिए। ऐसे में किसी भी वक्त डिलीवरी हो सकती है। इसके बाद महिला को हल्का हल्का दर्द भी शुरू हो जाता है। ऐसे में डॉक्टर की सलाह होती है कि महिला किसी भी तरह का प्रेशन न लगाए। नहीं तो यह आपके लिए कई तरह की परेशनी खड़ी कर सकता है।

इस बात का रहता है डर

लेबर पेन से सभी को डर लगता है। प्रेग्नेंसी के आखिरी दिनों में इसका डर काफी ज्यादा बढ़ जाता है। वहीं दूसरों के एक्सपीरियंस सुनकर महिलाएं काफी घबरा जाती हैं। ऐसे में महिला के लिए तनाव और ज्यादा बढ़ जाता है।

हो सकती हैं ये दिक्कत

गर्भावस्था में कब्ज की परेशानी होना आम बात है। जिन महिलाओं को पाइल्स की दिक्कत रहती है उनके लिए डिलीवरी के लास्ट दिन काफी स्ट्रेसफुल रहते हैं। क्योंकि बच्चे के जन्म के बाद यह परेशानी बढ़ जाती है और ऐसे में टांके खुलने का डर रहता है।

Also Read: डिनर में बनाकर खाएं शाही पनीर, यह है इसे बनाने की रेसिपी

वेट बढ़ना

गर्भावस्था के दौरान बढ़ा वजन आसानी से कम नहीं होता है। ऐसे में अक्सर महिलाएं काफी परेशान रहती हैं कि काफी जतन करने के बाद भी उनका वजन कम नहीं हो रहा है। प्रेग्नेंसी के समय बढ़े वेट की वजह से काफी परेशानी होती है। वहीं महिलाएं आसानी से करवट भी नहीं ले पाती हैं।

Next Story