logo
Breaking

Ssumier Pasricha Interview : सुमेर पसरीचा बोले- मैं नहीं चाहता हर कोई मुझे पम्मी आंटी ही कहे

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर पम्मी आंटी के नाम से फेमस टीवी एक्टर सुमेर पसरीचा अब सीरियल ‘तेनालीरामा’ में शेख चिल्ली बने हैं। एक लंबे गैप के बाद टीवी पर उन्होंने यही रोल क्यों एक्सेप्ट किया? वह डांसिंग, सिंगिंग, कॉमेडी सभी कुछ जानते हैं, आखिर उनका ड्रीम क्या बनना है? आगे वह किन प्रोजेक्ट्स में बिजी हैं? बातचीत सुमेर पसरीचा से।

Ssumier Pasricha Interview : सुमेर पसरीचा बोले- मैं नहीं चाहता हर कोई मुझे पम्मी आंटी ही कहे

टीवी पर सुमेर पसरीचा लंबे समय से बतौर एक्टर एक्टिव हैं, अब तक उन्होंने कई टीवी सीरियल किए हैं। वह थिएटर भी करते हैं, रेडियो के लिए काम कर चुके हैं। साथ ही सुमित कुचिपुड़ी डांसर हैं, भारतीय शास्त्रीय और कर्नाटक संगीत भी उन्होंने सीखा है। इस तरह वह बहुआयामी कलाकार हैं। लेकिन सुमित को दर्शक, पम्मी आंटी के रूप में ज्यादा पसंद करते हैं। दरअसल, सुमित एक्टिंग, डांसिंग से हटकर एक खास कैरेक्टर पम्मी आंटी के फनी वीडियोज सोशल मीडिया पर डाला करते थे, जिन्हें लोगों ने खूब पसंद किया। इससे सुमित की पॉपुलैरिटी खूब बढ़ी। पम्मी आंटी के रूप में उनकी कॉमिक टाइमिंग गजब की रहती है। इन दिनों भी वह सोनी सब के कॉमेडी सीरियल 'तेनाली रामा' में नजर आ रहे हैं। इस सीरियल और करियर से जुड़ी बातें साझा कर रहे हैं सुमित पसरीचा...

'तेनालीरामा' से आप कैसे जुड़े? इसमें आपका किस तरह का किरदार है?

मैं बहुत खुश हूं कि मुझे सब टीवी और 'तेनालीरामा' जैसे बेहतरीन सीरियल से जुड़ने का मौका मिला है। यह बहुत ही हिट सीरियल है। जैसा सब जानते हैं कि इसमें अलग-अलग ट्रैक चलते रहते हैं। ऐसे ही एक ट्रैक का मैं हिस्सा हूं। मैं शेख चिल्ली का किरदार निभा रहा हूं। यह बहुत ही मजेदार किरदार है।

आप काफी समय से टीवी से गायब रहे, कोई खास वजह थी?

दरअसल, मैं पम्मी आंटी के वीडियोज पर ज्यादा काम कर रहा था। इस वजह से कई चैनल्स, लोगों को ऐसा लग रहा था कि शायद मैं टीवी करना ही नहीं चाहता। लेकिन जब 'तेनालीरामा' सीरियल के लिए फोन आया कि इस तरह का एक कैरेक्टर है, क्या आप करना चाहेंगे? तो मैंने तुरंत हां कर दी। पहले लोगों को डाउट था कि मैं टीवी करना नहीं चाहता। अब यह डाउट दूर हो चुका है। कई बार अच्छा काम पाने में टाइम भी लग जाता है।

इसका मतलब एक गलतफहमी की वजह से आपको काम मिलना बंद था?

नहीं, ऐसी बात नहीं है कि मुझे ऑफर नहीं आ रहे थे लेकिन इस बीच जो ऑफर आए वे मजेदार नहीं थे। वैसे भी जब आप कुछ अच्छा काम कर रहे हैं तो उसके बाद और भी अच्छा काम ही करना चाहते हैं। यह भी सच है कि एक्टर को अपनी जो इमेज बनती जा रही है, उससे ब्रेक लेना जरूरी है। लोग मुझे पिछले तीन साल से पम्मी आंटी के रूप में देख रहे थे। ऐसे में 'तेनालीरामा' में मुझे कुछ नया करने को मिला है।

क्या आप शेख चिल्ली के बारे में पहले से जानते थे?

मैंने शेख चिल्ली का नाम सुना था, लेकिन उनके बारे में बहुत ज्यादा जानकारी नहीं थी। सीरियल के दौरान मुझे अपने किरदार के बारे में पता चला कि शेख चिल्ली बहुत ही आलसी किरदार है। इसका मानना है कि काम करने की क्या जरूरत, जब काम अपने आप हो ही जाना है। यह ऐसा किरदार है, जो आपको भी यही सलाह देगा कि आप क्यों नहा रहे हैं, जब शरीर से बदबू आने लगेगी तो अपने आप कोई आपके ऊपर पानी डाल ही जाएगा।

शेख चिल्ली धीरे-धीरे पूरी प्रजा को आलसी बनाता जा रहा है। जब इसकी खबर राजा को लगेगी तो वह राजा को भी आलसी बना देगा। फिर तेनालीरामा बीच में आएंगे और प्रजा, राजा को इस संकट से बचाएंगे। उसके बाद शेखचिल्ली क्या करेगा, यह अभी मुझे भी नहीं पता।

आप गुरु राजाराधा रेड्डी के स्टूडेंट रहे हैं। कुचिपुड़ी नृत्य आपने सीखा है। क्या आप डांसर बनना चाहते थे?

मैंने दिल्ली के मॉडर्न स्कूल से पढ़ाई की है। गुरुजी की बेटी यामिनी मेरी जूनियर थी। एक बार हम लोग एक साथ एक प्रोग्राम कर रहे थे। वहां उन्होंने मुझे देखा और कहा कि क्या तुम कुचिपुड़ी डांस सीखोगे? मैंने हां कर दिया और सीखने लगा। मैंने पांच साल गुरुजी से कुचिपुड़ी नृत्य सीखा। मैं डांस को आगे इसलिए नहीं बढ़ा सका, क्योंकि उसके बाद मैं ऑस्ट्रेलिया शिफ्ट हो गया था। वापस आया तो मेरी बैक में प्रॉब्लम हो गई। इस तरह दस साल डांस से दूर रहा। अभी पिछले साल एक बहुत बड़ा इंटरनेशनल डांस फेस्टिवल था। वहां मैंने कुचिपुडी किया, बहुत अच्छा लगा।

आपके प्रोफाइल को देखें तो आपने बहुत सारे काम किए हैं। आपका ड्रीम क्या था?

मेरा कोई एक ड्रीम नहीं था। यही लगता था कि मेरी जिंदगी में जो भी चीजें मुझे अच्छी लगती हैं, वो मुझे करनी चाहिए। म्यूजिक, डांस का शौक था तो यह सीखा। थिएटर का शौक था तो थिएटर किया। टीवी का शौक है तो टीवी कर रहा हूं। कई लोग बोलते हैं, तुम हर जगह फैलते जा रहे हो। मैं उन्हें यही कहता हूं कि मैंने हर जगह से एक्सपीरियंस लिया है और मैं बहुत खुश हूं। आप जितना सीखो, वह कभी न कभी आपके काम ही आता है।

मेल का फीमेल गेटअप में आना अब ट्रेंड बन चुका है। आपने भी पम्मी आंटी बनकर बहुत शोहरत कमाई है। क्या टाइपकास्ट होने का डर नहीं लगा?

देखिए, रिस्क तो हर काम में है। एक एक्टर होने के नाते अलग-अलग किरदार आपको करने होते हैं। कुछ आपके फेवर में चले जाते हैं तो कोई विरोध में। लेकिन एक्टर को यह पता होना चाहिए कि उसे अपनी इमेज कहां पर तोड़नी भी है। मैं पम्मी आंटी को इतना भी नहीं करता कि हर कोई मुझे पम्मी आंटी ही कहे।

यही वजह है कि मैं 'तेनालीराम' कर रहा हूं और शेख चिल्ली बना हूं। मैं और भी अलग-अलग तरह का काम कर रहा हूं। वेब सीरीज कर रहा हूं। मैं दो-तीन प्रोजेक्ट और कर रहा हूं। उनके बारे में अभी नहीं बता सकता। एक शॉर्ट फिल्म फेस्टिवल हो रहा है, उसके ज्यूरी पैनल में हूं। वैसे मैं टीवी पर सीरियस रोल भी करना चाहता हूं।

रेणु खंतवाल :

Share it
Top