Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Dadasaheb Phalke Birthday: जानिए हिंदी फिल्मों के जनक 'दादासाहेब फाल्के' और पहली फिल्म 'राजा हरिश्चंद्र' के बनने की कहानी

फाल्के ने हरिश्चंद्र के जीवन पर आधारित एक फिल्म बनाने का फैसला किया और इसके लिए उन्हें कहानी लिखी। उन्होंने इंदुप्रकाश जैसे विभिन्न अखबारों में विज्ञापन प्रकाशित किए और फिल्म के लिए आवश्यक कलाकारों के लिए मांग की। चूंकि महिला प्रधान भूमिका निभाने के लिए कोई महिला उपलब्ध नहीं थी इसलिए पुरुष अभिनेताओं ने ही महिला भूमिकाएं निभाईं।


दत्तात्रेय दामोदर डाबके ने राजा हरिश्चंद्र और अन्ना सालुंके ने रानी तारामती के रूप में मुख्य भूमिका निभाई। फाल्के के बड़े बेटे भालचंद्र को रोहिताश्व हरिश्चंद्र और तारामती के पुत्र की भूमिका दी गई। फाल्के स्क्रिप्ट, डायरेक्शन, प्रोडक्शन डिज़ाइन, मेकअप, एडिटिंग, और फिल्म प्रोसेसिंग के प्रभारी थे। फिल्म की शूटिंग छह महीने और 27 दिनों में पूरी की गई जिसमें लगभग चार रीलों का प्रयोग किया गया था। इस तरह से भारत की पहली फिल्म का निर्माण हुआ और बॉलीवुड की नीव रखी गयी।

Next Story