Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सौरव गांगुली का बड़ा खुलासा, पिताजी मेरा संन्यास चाहते थे, पढ़िए क्या है पूरा मामला

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने किया बड़ा खुलासा कहा कि पिताजी मेरा संन्यास चाहते थे।

सौरव गांगुली का बड़ा खुलासा, पिताजी मेरा संन्यास चाहते थे, पढ़िए क्या है पूरा मामला

सौरव गांगुली ने कहा है कि जब तत्कालीन कोच ग्रेग चैपल ने उन्हें भारतीय टीम से बाहर कर दिया था और वह वापसी के लिए बेताब थे तब उनके पिताजी को यह संघर्ष बर्दाश्त नहीं हो रहा था और चाहते थे कि यह स्टार क्रिकेटर खेल से संन्यास ले ले।

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान ने यह खुलासा उनकी जल्द ही प्रकाशित होने वाली आत्मकथा ‘ए सेंचुरी इज नॉट इनफ' में किया है। जब चैपल भारतीय टीम के कोच थे तब गांगुली को कप्तानी से हटा दिया गया था और यहां तक कि उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया था।

इसे भी पढ़े: IND vs SA: दूसरे मैच में बाबा आदम के इस नियम से मचा बवाल, ICC की हुई किरकिरी

गांगुली ने इसके साथ ही कहा कि जब उन्हें 2008 में ईरानी ट्राफी के लिए शेष भारत की टीम में नहीं चुना गया तो वह ‘गुस्सा’ और ‘मायूस’ थे। इसके कुछ महीने बाद उन्होंने संन्यास की घोषणा कर दी थी। उन्हें यह समझ में नहीं आ रहा था कि आखिर उन्हें टीम से क्यों बाहर किया गया। उन्होंने बाद में टीम के कप्तान अनिल कुंबले को फोन किया और कारण जानने की कोशिश की।

गांगुली ने किताब में लिखा है- मैंने उनसे सपाट शब्दों में पूछा क्या वह समझते हैं कि अंतिम एकादश के लिए मैं स्वत: पसंद नहीं रह गया हूं। हमेशा की तरह भद्रजन कुंबले लगता था कि मेरे फोन से परेशान थे। उन्होंने मुझसे कहा कि इस फैसले से पहले दिलीप वेंगसरकर की अध्यक्षता वाली चयनसमिति ने उनसे मशविरा नहीं किया।

Share it
Top