Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

2018 कॅामनवेल्थ गेंम्सः साइना नेहवाल का छलका दर्द, कहा- खेल गांव में पिता के प्रवेश पर लगे प्रतिबंध ने किया आह्त

साइना नेहवाल अपने पिता के साथ ऑस्ट्रेलिया में आयोजित होने वाली राष्ट्रीय मंडल खेलों में हिस्सा लेने वहां पहुंची थी। साइना ने आरोप लगाया है कि जब वह अपने पिता के साथ गोल्ड कोस्ट गेंम्स विलेज पहुंची तो आयोजकों ने उनके पिता को गेंम्स विलेज में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया।

2018 कॅामनवेल्थ गेंम्सः साइना नेहवाल का छलका दर्द, कहा- खेल गांव में पिता के प्रवेश पर लगे प्रतिबंध ने किया आह्त
X
ऑस्ट्रेलिया में आयोजित होने वाली 2018 कॅामनवेल्थ गेंम्स भाग लेने पहुंची बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल ने अपनी नाराजगी जताई है। साइना नेहवाल अपने पिता के साथ ऑस्ट्रेलिया में आयोजित होने वाली राष्ट्रीय मंडल खेलों में हिस्सा लेने वहां पहुंची थी।
साइना ने आरोप लगाया है कि जब वह अपने पिता के साथ गोल्ड कोस्ट गेंम्स विलेज पहुंची तो आयोजकों ने उनके पिता को गेंम्स विलेज में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया। साइना नेहवाल ने कहा जबकि उनके पिता के पास भारतीय प्रतिनिधि दल में शामिल होने की अधिकारिक मान्यता है।
बावजूद इसके आयोजको ने मेरे पिता को गेंम्स विलेज में प्रवेश पर रोक लगा दी है। साइना ने अपनी नाराजगी सोशल मिडिया के माध्यम से टि्वट कर इस बात की जानकारी दी है।
सानिया ने अपने टि्वट में लिखा है कि मैं यह देखकर हैरान हूं कि जब हमने राष्ट्रीय मंडल खेलों मे हिस्सा लेने के लिए भारत से ऑस्ट्रेलिया के लिए अपना सफर शुरू किया था । तो उस समय मेरे पिता का नाम भारतीय दल में होने की आधारिक रूप से पुष्टि की गई थी।
और जिसके लिए मैंने निर्धारित फीस भी जमा करा दी थी। लेकिन जब हम ऑस्ट्रेलिया के गेंम्स विलेज पहुंचे तो मेरे पिता का नाम भारतीय दल की सूची में से गायब था। जिस कारण मेरे पिता खेल गांव में प्रवेश और मेरे साथ खेल गांव में रहने पर प्रतिबंध लगा दिया था।
आपको बता दे कि खेल मंत्रालय ने पहले गोल्ट कोस्ट राष्ट्रीय मंडल खेल के लिए सानिया नेहवाल के पिता हरवीर सिंह नेहवाल का नाम भारतीय बेडमिंटन टीम के एक अतिरिक्त अधिकारी के रूप में पुष्टि की थी।
सानिया नेहवाल ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपना दर्द जाहिर करते हुए लिखा कि इस प्रतिबंध के बाद अब उनके पिता उनके मैच नहीं देख पाएंगे और ना ही खेल गांव में आकर मुझ से मुलाकात कर पाएंगे। सानिया ने अपने साथ हुए इस बर्ताव के लिए खेल मंत्रालय पर तंज भी कसा है कि यह किस प्रकार की हौसला अबजाई है।
सानिया नेहवाल ने आगे लिखा है कि वह अक्सर अपने पिता को अपने प्रतियोगिता में अपने साथ ले जाती रही है। और इस बार भी वह राष्ट्रीय मंडल खेलों में उनको अपने साथ इसलिए लाई थी कि उनका सहयोग मुझे मिल सके।
सानिया ने लिखा है कि मुझे उनके सहयोग की आवश्यकता है जो मैं हमेशा से अपने हर प्रतियोगिता में लेती आई हूं। मुझे यह नहीं समझ आता कि किसी ने पहले इस बात की जानकारी हमें क्यों नहीं दी कि वह खेल गांव प्रवेश नहीं ले पाएंगे।
आपको बता दे कि ऑस्ट्रेलिया में कल से गोल्ट कोस्ट राष्ट्रीय मंडल खेलों का आयोजन शुरू होने वाला है। जो अगले 12 दिनों तक जारी रहेगा और इसका समापन 15 अप्रैल को होगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story