Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Golden boy नीरज चोपड़ा ने बीच में ही छोड़ा स्वागत समारोह, मां-पिता से भी नहीं मिल पाए, यहां जानें वजह

टोक्यो ओलंपिक में देश का मान बढ़ाने वाले गोल्डन बॉय नीरज चोपड़ा की अचानक तबीयत खराब होने से वह अपने माता-पिता से भी नहीं मिल पाए। जिस कारण वह अपनी मां के हाथ का बना चूरमा भी नहीं खा पाए।

Golden boy Neeraj chopra
X

 नीरज चोपड़ा 

खेल। टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में देश का मान बढ़ाने वाले गोल्डन बॉय (Golden Boy) नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) की अचानक तबीयत खराब होने से वह अपने माता-पिता से भी नहीं मिल पाए। जिस कारण वह अपनी मां के हाथ का बना चूरमा भी नहीं खा पाए। दरअसल भाला फेंक स्टार नीरज को पानीपत (Panipat) के पास अपने पैतृक गांव में स्वागत समारोह में शामिल होना था, जो कि उन्हीं के सम्मान में आयोजित किया गया था लेकिन भारी भीड़ और मीडिया की चकाचौंध देखकर उनकी अचानक तबीयत खराब हो गई, जिस कारण वह घर की दहलीज पर आकर ना अपने पिता से मिल पाए और ना ही अपनी मां के हाथ से चूरमा खा पाए। वह इस दौरान अपने घर की बजाय कहीं और रुके।

वहीं खबरें तो ये भी आईं कि वह चंडीगढ़ चले गए हैं, लेकिन नीरज के एक करीबी सूत्र ने पीटीआई को बताया कि उन्होंने एहतियात के तौर पर इस स्वागत समारोह को बीच में छोड़ दिया। ताकि वह अच्छे से आराम कर सकें। बता दें कि मंगलवार को पानीपत से लगभग 15 किलोमीटर दूर वह उनके पैतृक गांव खंडरा लौटे। जहां लोगों ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया। साथ ही सूत्र ने कहा कि समारोह के बीच में ही वह थका हुआ महसूस कर रहे थे औऱ उन्हें हल्का बुखार होने लगा। इसलिए उन्होंने समारोह को छोड़ दिया और पास के ही एक घर में आराम करने लगे। हालाकिं मामला गंभीर नहीं है, और उन्हें अस्पताल ले जाने वाली खबरें महज एक अफवाह है। दरअसल वह जब से टोक्यो से लौटे हैं तब से ही वह कार्यक्रम में बिना रुके भाग ले रहे हैं जिस कारण वह थक गए हैं।वहीं सूत्र ने बताया कि वह निश्ति तौर पर अपने घर जाएंगे, लेकिन वह मीडिया समेत लोगों की भीड़ नहीं चाहते।

Next Story