Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जब पाकिस्तान की बेईमानी से परेशान होकर भारत ने जीता हुआ मैच खेलने से मना कर दिया था

भारत और पाकिस्तान के बीच 3 नवंबर 1978 को सीरीज का तीसरा और निर्णायक मैच खेला गया था।

जब पाकिस्तान की बेईमानी से परेशान होकर भारत ने जीता हुआ मैच खेलने से मना कर दिया था

भारत और पाकिस्तान के बीच जब मैच खेला जाता है तो रोमांच की सारी सीमाएं टूट जाती है।

लेकिन क्रिकेट में कई ऐसे मौके भी आए जब कोई टीम मैच जीतने के लिए बेईमानी पर उतर आई हो।

भारत और पाकिस्तान के बीच 3 नवंबर 1978 को पाकिस्तान के शाहीवाल के जफर अली स्टेडियम में सीरीज का तीसरा और निर्णायक मैच खेला गया था।

पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 40 ओवरों के मैच में 205 का स्कोर बनाया था।

इसे भी पढ़े: बर्थडे स्पेशल: बिजनेसमैन विराट कोहली के ये हैं टॉप 5 कारोबार

206 रनों का पीछा करने उतरी टीम इंडिया को आखिर में जीत के लिए 14 गेंदों में 23 रन चाहिए थे और उसके 8 विकेट सुरक्षित थे।

लेकिन पाकिस्तान की बेईमानी से परेशान होकर टीम इंडिया के कप्तान बिशन सिंह बेदी ने जीत की ओर बढ़ रहे अपने बल्लेबाजों को मैदान से वापस बुला लिया था।

इस मैच में अंपायरिंग कर रहे दोनों अंपायर पाकिस्तानी ही थे। 38वां ओवर कर रहे पाकिस्तानी गेंदबाज सरफराज नवाज ने उस ओवर में लगातार चार बाउंसर फेंके, लेकिन अंपायर ने उनमें से एक को भी वाइड नहीं दिया।

Share it
Top