Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

IND vs ENG: इंग्लैंड ने भारत को 5 विकेट से हराया, एलेक्स हेल्स ने खेली नाबाद अर्धशतकीय पारी

भारत ने भी उसका शीर्ष क्रम झकझोर कर स्कोर तीन विकेट पर 44 रन कर दिया था लेकिन छठे ओवर में क्रीज पर कदम रखने वाले हेल्स एक छोर पर डटे रहे।

IND vs ENG: इंग्लैंड ने भारत को 5 विकेट से हराया, एलेक्स हेल्स ने खेली नाबाद अर्धशतकीय पारी

एलेक्स हेल्स की बल्लेबाजी के लिये मुश्किल परिस्थितियों में खेली गयी नाबाद अर्धशतकीय पारी की मदद से इंग्लैंड ने आज यहां कम स्कोर के बावजूद रोमांचक मोड़ पर पहुंचे दूसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में पांच विकेट से जीत दर्ज करके तीन मैचों की श्रृंखला को जीवंत बनाये रखा। टास गंवाने के बाद पहले बल्लेबाजी करने वाले भारत ने तीन विकेट 22 रन पर गंवाने के बावजूद पांच विकेट पर 148 रन बनाये।

कप्तान विराट कोहली ने सर्वाधिक 47 रन बनाये। इसके लिये उन्होंने 38 गेंदें खेली तथा एक चौका और दो छक्के लगाये। महेंद्र सिंह धोनी ने 24 गेंदों पर पांच चौकों की मदद से नाबाद 32 रन बनाये जबकि सुरेश रैना ने 20 गेंदों पर 27 रन का योगदान दिया। इंग्लैंड ने 19.4 ओवर में पांच विकेट पर 149 रन बनाकर जीत दर्ज की।

भारत ने भी उसका शीर्ष क्रम झकझोर कर स्कोर तीन विकेट पर 44 रन कर दिया था लेकिन छठे ओवर में क्रीज पर कदम रखने वाले हेल्स एक छोर पर डटे रहे। उन्होंने 41 गेंदों पर चार चौकों और तीन छक्कों की मदद से नाबाद 58 रन बनाये। उन्हें जॉनी बेयरस्टॉ (18 गेंदों पर 28) का अच्छा साथ मिला। तीसरा टी20 आठ जुलाई को ब्रिस्टल में खेला जाएगा।

जैसन राय (15) ने उमेश यादव (36 रन देकर दो) के पहले ओवर में एक छक्के और दो चौकों की मदद से 14 रन बटोरे लेकिन इस तेज गेंदबाज ने अपने अगले ओवर की पहली गेंद पर उनकी गिल्लियां बिखेर दी। उमेश ने दूसरे सलामी बल्लेबाज जोस बटलर (14) को कोहली के हाथों कैच कराया। कोहली ने इसी ओवर में पहले बटलर का आसान कैच भी छोड़ा था।

कोहली ने पावरप्ले समाप्त होने के तुरंत बाद युजवेंद्र चहल को गेंद सौंपी जिन्होंने जो रूट (नौ) को गुगली पर बोल्ड करके कप्तान को निराश नहीं किया। लेकिन इस अवसर को छोड़कर भारत के दोनों स्पिनर आज पिछले मैच की तरह कमाल नहीं दिखा पाये। हेल्स ने चहल पर डीप मिडविकेट और कुलदीप यादव पर लांग आन क्षेत्र में छक्के लगाये।

जब चहल और कुलदीप की नहीं चली तो धोनी ने हार्दिक पंड्या को गेंद सौंपी जिनके दूसरे स्पैल की पहली गेंद पर शिखर धवन ने कप्तान इयोन मोर्गन (17) का सीमा रेखा पर जबर्दस्त कैच लिया। बेयरस्टॉ ने भुवनेश्वर कुमार की गेंद पर कैच थमाने से पहले कुलदीप पर लगातार दो छक्के लगाये। इंग्लैंड को आखिरी ओवर में 12 रन की दरकार थी।

हेल्स ने भुवनेश्वर के इस ओवर में पहली दो गेंदों पर छक्का और चौका लगाकर अपनी टीम की जीत सुनिश्चित की। इससे पहले भारत ने अपने तीन विकेट पर 22 रन पर गंवा दिये थे और दस ओवर के बाद उसका स्कोर केवल 52 रन पर पहुंचा था। इंग्लैंड की तरफ से लियाम प्लंकेट और डेविड विली ने अपने कोटे के ओवरों में क्रमश: 17 और 18 रन दिये और एक एक विकेट भी लिया।

लेग स्पिनर आदिल राशिद (29 रन देकर एक) भी प्रभावित करने में सफल रहे। भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही तथा उसने पहले पांच ओवर और 22 रन के अंदर दोनों सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (छह) और शिखर धवन (10) के अलावा पहले मैच के नायक केएल राहुल (छह) के विकेट गंवा दिये। रोहित ने अपना पहला टी20 अंतरराष्ट्रीय खेल रहे जैक बॉल की शार्ट पिच गेंद को हवा में लहराकर विकेटकीपर बटलर को कैच दिया जबकि धवन विकेटों के बीच दौड़ में अपनी सुस्ती के कारण रन आउट होकर पवेलियन लौटे।

राहुल को इसी ओवर में प्लंकेट ने बोल्ड किया। इंग्लैंड ने कसी हुई गेंदबाजी और उम्दा क्षेत्ररक्षण का नमूना पेश किया जिससे पहले दस ओवर में केवल चार चौके लगे। कोहली को 21 रन के निजी योग पर जीवनदान मिला। राशिद की गेंद पर जैसन राय ने कैच करने का अच्छा प्रयास किया लेकिन गेंद उनके हाथ से लगकर सीमा रेखा के पार गिर गयी और भारतीय कप्तान को छक्का मिल गया।

इसके अगले ओवर में रैना ने भी बॉल की गेंद छह रन के लिये भेजी लेकिन राशिद की गुगली पर वह गच्चा खा गये और स्टंप आउट होकर पवेलियन लौटे। भारत का स्कोर 16 ओवर के बाद चार विकेट पर 101 रन था लेकिन विकेटों के बीच दौड़ में माहिर दो धुरंधर धोनी और कोहली क्रीज पर थे। वे जानते थे कि अगले चार ओवर निर्णायक होंगे।

कोहली ने क्रिस जोर्डन की फुलटास पर स्क्वायर लेग पर छक्का लगाया लेकिन विली की गेंद पर जो रूट ने फाइन लेग बाउंड्री पर खूबसूरत कैच से उनकी पारी का अंत कर दिया। धोनी ने भी एक दो अवसरों पर अपने हेलीकॉप्टर शॉट का प्रदर्शन किया जबकि हार्दिक पंड्या (नाबाद 12) ने जोर्डन पर छक्का जमाया। बॉल के आखिरी ओवर में धोनी ने तीन चौके जमाये। इस ओवर में कुल 22 रन बने जिससे भारत सम्मानजनक स्कोर तक पहुंच पाया।

Share it
Top