Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
toggle-bar

अजीम रफीक की गवाही के बाद इंग्लैंड क्रिकेट में भूचाल, 'काफिर' शब्द का इस्तेमाल करके की जाती है नस्लभेदी टिप्पणियां

रफीक ने मैथ्यू होगार्ड पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह हॉगी (मैथ्यू होगार्ड) ही था जिसने मुझे काफिर कहना शुरु किया। हॉगी ने मुझे 'राफा द काफिर' कहा।

अजीम रफीक की गवाही के बाद इंग्लैंड क्रिकेट में भूचाल, काफिर शब्द का इस्तेमाल करके की जाती है नस्लभेदी टिप्पणियां
X

खेल। लंबे समय से इंग्लैंड क्रिकेट (England Cricket) पर नस्लभेदी टिप्पणी करने के आरोप लगते आ रहे हैं। इसी को लेकर एक नया मामला सामने आया है। दरअरसल यॉर्कशायर के पूर्व खिलाड़ी अजीम रफीक (Azeem Rafiq) ने मंगलवार को लीड्स एम्प्लॉयमेंट ट्रिब्यूनल के समक्ष गवाही दी है। इस दौरान उन्होंने अपने साथ हुए उत्पीड़न से जुड़े सबूत पेश किए और अपना पक्ष भी रखा। बता दें कि रफीक ने आरोप लगाया था कि पाकिस्तानी होने के कारण उनके साथ दुर्व्यवहार हुआ था। इसके लिए उन्होंने यॉर्कशायर क्रिकेट क्लब (Yorkshire County Cricket Club) के खिलाफ मामला भी दर्ज कराया था।

मुंह बंद रखने के लिए बड़ी रकम की पेशकश

रफीक की गवाही के बाद से ही इंग्लैंड क्रिकेट में मानो भूचाल आ गया हो। अपनी गवाही में रफीक ने कई मौजूदा और पूर्व क्रिकेटर्स पर नस्लीय टिप्पणियां करने के आरोप लगाए और साथ ही बल्कि ये भी बताया कि काउंटी की ओर से उन्हें इस मामले में चुप रहने के लिए मोटी रकम की पेशकश भी की गई। चयन समिति के सामने सबूत रखते हुए रफीक ने कहा कि वह अपने बेटे को कभी भी क्रिकेट नहीं खिलाना चाहेंगे।

मैथ्यू होगार्ड ने 'काफिर' कहा

रफीक ने मैथ्यू होगार्ड पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह हॉगी (मैथ्यू होगार्ड) ही था जिसने मुझे काफिर कहना शुरु किया। हॉगी ने मुझे 'राफा द काफिर' कहा। क्लब में मेरा उपनाम राफा था जो रफीक का छोटा रूप था। इसलिए जब उन्होंने मुझे राफा द काफिर कहा तो मुझे लगा कि ये तुकबंदी करता है लेकिन मुझे बाद में पता चला कि काफिर का क्या मतलब है। वास्तव मे ये एक नस्लवादी टिप्पणी थी।

रफीक यहीं नहीं रुके उन्होंने इंग्लैंड के टेस्ट कप्तान जो रुट के लिए भी कहा कि वह अच्छे इंसान हैं, लेकिन रूट की यॉर्कशायर में नस्लवाद ना होने की बात ने मुझे काफी आहत किया। हां, मैं मानता हूं कि जो रूट ने कभी भी नस्लवादी भाषा का इस्तेमाल नहीं किया था, लेकिन रूट की टिप्पणियों को अजीब बताया।

रफीक ने बताया कि इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने काउंटी क्लब यॉर्कशायर में एशियाई मूल के खिलाड़ियों के एक समूह के प्रति भी नस्लीय टिप्पणियां की थी। वहीं वॉन ने रफीक के तमाम आरोपों को नकार दिया था। हालांकि, रफीक की बातों की पुष्टि इंग्लैंड टीम में मौजूद दो एशियाई खिलाड़ियों राणा नावेद उल हसन और आदिल रशीद ने भी की थी।

और पढ़ें
Next Story