Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Birthday Special: क्रिकेट छोड़ ट्रक ड्राइवर बनना चाहते थे हरभजन सिंह, जानें भज्जी से जुड़े रोचक तथ्य

भारतीय क्रिकेट इतिहास के सबसे बेहतरीन स्पिन गेंदबाजों में से एक हरभजन सिंह आज यानि मंगलवार (3 जुलाई) को अपना 38वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे हैं। हरभजन यानि भज्जी की जिंदगी से जुड़े कुछ ऐसे तथ्य आज हम आपको बताने जा रहे हैं जिनसे आप आजतक अंजान होंगे।

Birthday Special: क्रिकेट छोड़ ट्रक ड्राइवर बनना चाहते थे हरभजन सिंह, जानें भज्जी से जुड़े रोचक तथ्य

भारतीय क्रिकेट इतिहास के सबसे बेहतरीन स्पिन गेंदबाजों में से एक हरभजन सिंह आज यानि मंगलवार (3 जुलाई) को अपना 38वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे हैं। हरभजन का जन्म 3 जुलाई 1980 को पंजाब के जालंधर में हुआ था। हरभजन यानि भज्जी की जिंदगी से जुड़े कुछ ऐसे तथ्य आज हम आपको बताने जा रहे हैं जिनसे आप आजतक अंजान होंगे।

क्रिकेट छोड़कर ट्रक ड्राइवर बनना चाहते थे हरभजन सिंह

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ साल 1998 में बेंगलुरु में हरभजन सिंह ने भारतीय टेस्ट टीम में पहली बार चुने गए थे। हालांकि इस मैच में उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा और वह सिर्फ 2 विकेट ही ले सके।

इसे भी पढ़े: हरभजन से पहले इस एक्टर से रहा था गीता बसरा का अफेयर, जब गीता ने भज्जी को दी थी कहीं और शादी करने की सलाह

फिर इसके बाद 1999-2000 के सीजन के दौरान भी हरभजन सिंह का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा, जिसकी वजह से अबतक टीम में उनकी जगह भी पक्की नहीं थी। इसी दौर में मुरली कार्तिक, सुनील जोशी और सरनदीप सिंह जैसे स्पिनर भी भारतीय टीम में अपनी दावेदारी पेश कर रहे थे।

यह एक ऐसा वक्त था जब हरभजन सिंह ने क्रिकेट छोड़ने का मन बना लिया और वह अमेरिका जाकर ट्रक ड्राइवर बनना चाहते थे। लेकिन हरभजन सिंह ने अपनी मां और बहनों के समझाने पर फिर से क्रिकेट की ओर लौट आए।

ऐसे पलटी किस्मत

भारतीय टीम ने साल 2001 में ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया, इस दौरे ने हरभजन सिंह के करियर को एक नया मुकाम दे दिया। इस सीरीज के दौरान हरभजन सिंह ने यादगार प्रदर्शन करते हुए 3 टेस्ट मैचों में 32 विकेट लेकर ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों की कमर तोड़ दी थी।

इसे भी पढ़े: #INDvENG: भारत-इंग्लैंड के बीच खेले गए अबतक के सभी टी20 मैच के आंकड़ों पर एक नजर, एक क्लिक में जानें पूरा इतिहास

इस दौरान पहले टेस्ट मैच में उन्होंने एक हैट्रिक भी ली थी। टेस्ट क्रिकेट में हरभजन सिंह 400 विकेट लेने वाले सबसे कम उम्र के भारतीय गेंदबाज हैं। उन्होंने महज 31 साल की उम्र में ही यह कारनामा किया था।

हरभजन टेस्ट क्रिकेट में 103 मैचों में 417 विकेट और 236 वनडे मैचों में 269 विकेट ले चुके हैं। हरभजन को उनके भारतीय क्रिकेट में योगदान के लिए साल 2003 में अर्जुन अवार्ड और साल 2009 में पद्म श्री अवार्ड भी मिल चुका है।

Share it
Top