Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

एशियन गेम्सः रजत पर निशाना और पानी से निकाला कांसा, भारत 17 पदकों के साथ 16वें स्थान पर

वह हीट्स में शीर्ष पर रहे और बाद में फाइनल्स में उन्होंने 28.26 सेकेंड का समय निकालकर तीसरा स्थान हासिल किया।

एशियन गेम्सः रजत पर निशाना और पानी से निकाला कांसा, भारत 17 पदकों के साथ 16वें स्थान पर
इंचियोन. लंदन ओलंपिक के रजत पदक विजेता विजय कुमार, पेम्बा तमांग और गुरप्रीत सिंह की पिस्टल टीम ने 25 मीटर सेंटर फायर पिस्टल प्रतियोगिता में कुल 1740 का स्कोर बनाकर रजत पदक जीता। चीन ने 1742 स्कोर के साथ स्वर्ण पदक हासिल किया। तैराकी में 25 वर्षीय सेजवाल ने 50 मीटर ब्रेस्टस्ट्रोक में कांस्य पदक जीता।
वह हीट्स में शीर्ष पर रहे और बाद में फाइनल्स में उन्होंने 28.26 सेकेंड का समय निकालकर तीसरा स्थान हासिल किया। स्क्वैश में भी भारत को अच्छी खबर मिली है। भारत की पुरुष और महिला दोनों टीमें फाइनल में पहुंचीं। इस तरह से उनका कम से कम रजत पदक पक्का हो गया है। कुल मिलाकर भारतीय दल के लिए मिर्शित सफलता वाला दिन रहा।
बैडमिंटन की एकल स्पर्धा में स्टार शटलर साइना नेहवाल और पी कश्यप बाहर हो गए जबकि तीरंदाजों ने भी व्यक्तिगत रिकर्व में निराश किया। महिला हाकी टीम ने मलेशिया पर 6-1 की जीत से खुद को पदक के दावेदारों में बनाए रखा है। एशियाई खेलों में भारतीय निशानेबाजों का यह आठवां पदक था। उन्होंने एक स्वर्ण, एक रजत और छह कांस्य जीते जिनमें से सिर्फ दो व्यक्तिगत स्पर्धा के रहे। जीतू राय और अभिनव बिंद्रा के अलावा इंचियोन में कोई भारतीय निशानेबाज व्यक्तिगत स्पर्धा का पदक नहीं जीत सका। भारतीय महिला टीम 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशंस टीम फाइनल्स में छठे स्थान पर रही। लज्जा गोस्वामी, 44 बरस की अंजलि भागवत और तेजस्विनी मूले भारतीय टीम में शामिल थी। लज्जा व्यक्तिगत फाइनल में सातवें स्थान पर रही।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, एशियन गेम्स का अन्य खेल -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Top