Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

किसान बोले- दिल्ली पुलिस अनुमति दे या ना, आउटर रिंग रोड पर होगी ट्रैक्टर परेड

26 जनवरी को दिल्ली की सड़कों पर ट्रैक्टर परेड के संबंध में किसान संगठनों का कहना है कि वो ट्रैक्टर परेड निकालेंगे। लेकिन किसानों की ट्रैक्टर परेड पर अभी असमंजस बना हुआ है। किसान नेताओं ने शनिवार को दावा किया कि पुलिस ने दिल्ली में ट्रैक्टर परेड निकालने की मंजूरी दे दी है।

किसान बोले- दिल्ली पुलिस अनुमति दे अथवा नहीं, आउटर रिंग रोड पर होगी ट्रैक्टर परेड
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

कृषि क़ानूनों के खिलाफ टिकरी बार्डर पर किसानों का विरोध प्रदर्शन आज 60वें दिन भी जारी है। एक प्रदर्शनकारी ने बताया कि आज पंजाब, हरियाणा और राजस्थान से काफी ट्रैक्टर आ रहे हैं। हम 26 जनवरी को शांतिपूर्ण ट्रैक्टर परेड निकालेंगे। टिकरी बार्डर पर क़रीब दो-ढाई लाख ट्रैक्टर होंगे। वहीं किसानों को परेड की इजाजत देने पर दिल्ली पुलिस ने कहा है कि किसानों को सेंट्रल दिल्ली में ट्रैक्टर परेड की इजाजत नहीं है। सूत्रों के अनुसार दिल्ली पुलिस किसानों के द्वारा दिए जाने वाले रुट मैप का इंतजार कर रही है। इसके बाद होगी किसान और पुलिस की फाइनल मीटिंग होगी। किसानों को ट्रैक्टर परेड के लिए लिखित में रूट देना होगा। किसान सेंट्रल दिल्ली में ट्रैक्टर परेड नहीं कर सकेंगे। गणतंत्र दिवस परेड के बाद ही वो अपनी ट्रैक्टर परेड निकाल सकेंगे।

आउटर रिंग रोड पर होगी परेड: सतनाम सिंह

पंजाब किसान संघर्ष कमेटी के नेता सतनाम सिंह पन्नू ने कहा है कि कई किसान गणतंत्र दिवस के मौके पर होने वाले ट्रैक्टर रैली में शामिल होने के लिए दिल्ली आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसान दिल्ली के आउटर रिंग रोड पर ट्रैक्टर रैली निकालेंगे ही, दिल्ली पुलिस इसके लिए अनुमति दे अथवा नहीं।

बता दें कि किसानों के साथ आंदोलन में शामिल योगेंद्र यादव ने दावा किया है कि 26 जनवरी को किसान परेड होगी और इसके लिए फाइनल रूट जल्द ही मीडिया को बता दिया जाएगा। योगेंद्र यादव ने कहा कि गणतंत्र दिवस को हम दिल्ली के अंदर जाएंगे। उन्होंने कहा कि हमारी दिल्ली पुलिस से रैली के रूट को लेकर बात हुई है। योगेन्द्र यादव ने कहा कि रैली के दौरान किसान दिल्ली में नहीं रुकेगा, बल्कि जहां से रैली शुरू हुई है, वहीं पर वापस आ जाएगा।

ये कहना है दिल्ली पुलिस का

किसान संगठनों कहना है कि ट्रैक्टर रैली के साथ साथ परेड की लंबाई और रूट के संबंध में दिल्ली पुलिस से सहमति बन गई है। लेकिन पुलिस का कहना है कि इस संबंध में किसान संगठनों की तरफ से लिखित में कुछ भी नहीं मिला है। आंदोलनरत किसान संगठन जब लिखित में जानकारी देंगे उसका विश्लेषण करने के बाद फैसला लिया जाएगा।

किसान 100 किमी रूट निकालना चाहते हैं परेड

किसान नेताओं के साथ बैठक में पुलिस ने सिंघु बॉर्डर से खरखौदा टोल प्लाजा तक परेड निकालने का रूट ऑफर किया। यह रूट 63 किमी का है। जबकि, किसानों का कहना है कि वे 100 किमी तक परेड निकालना चाहते हैं।

दिल्ली की 3 सीमाओं से शुरू होगी परेड

किसान आंदोलन से जुड़े स्वराज इंडिया के नेता योगेंद्र यादव ने कहा, 'किसान 26 जनवरी को परेड निकालेंगे। बैरिकेड हटा दिए जाएंगे और हम दिल्ली में एंट्री करेंगे। पुलिस से बातचीत में ट्रैक्टर परेड के रूट पर सहमति बन गई है। फाइनल डिटेल तैयार कर ली जाएगी।' उधर, किसान नेता अभिमन्यु कोहर ने भी कहा- गाजीपुर, सिंघु और टीकरी बॉर्डर से ट्रैक्टर परेड शुरू होगी।

पिछले एक महीने से चल रही हैं ट्रैक्टर परेड की तैयारियां

किसान करीब एक महीने से ट्रैक्टर परेड की तैयारियां कर रहे हैं। पंजाब के कई शहरों और गांवों में इसकी रिहर्सल की जा रही है। पंजाब के कई जिलों से किसान ट्रैक्टर लेकर दिल्ली के लिए रवाना हो रहे हैं।

दो लाख ट्रैक्टरों के परेड में शामिल होने का दावा

परेड में दो लाख ट्रैक्टर शामिल होने का दावा किया जा रहा है। इसके मद्देनजर 2500 वॉलंटियर्स की तैनाती की गई है, जो ट्रैक्टर परेड के दौरान यातायात संबंधी व्यवस्था देखेंगे। किसान नेताओं का कहना है कि ट्रैक्टरों की संख्या बढ़ती है तो वॉलंटियर्स की संख्या भी बढ़ाई जा सकती है। करीब एक लाख ट्रैक्टर पंजाब से आएंगे। ट्रैक्टर परेड के साथ-साथ 40 एंबुलेंस भी चलेंगी।

ट्रैक्टर परेड के बाद लेंगे अगला निर्णय

किसान नेताओं का कहना है कि अभी उनका पूरा ध्यान ट्रैक्टर परेड पर है। इसके बाद आंदोलन के अगले कदम पर निर्णय लेंगे। उधर, किसान नेता गुरुनाम सिंह चढ़ूनी ने कहा कि हम सभी कानूनों की वापसी चाहते हैं। शुरू से ही यही मांग रही है। इससे कम पर कोई समझौता नहीं करना चाहते। उन्होंने कहा कि, अभी किसानों का फोकस ट्रैक्टर परेड पर है। अगले कदम क्या होगा इसके बारे में ट्रैक्टर परेड के बाद सोचेंगे।

Next Story