Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रिश्वत लेने के लिए जीएसटी अधिकारियों ने कोड बना रखे थे, सामने आई वीडियो रिकॉर्डिंग

सीबीआई ने ऑडियों को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी हैं। ऑडियो रिकॉर्डिंग मनोज कालरा तथा फैक्टरी के एमडी चंद्रमोहन की जीएसटी अधिकारियों से बातचीत की है। वहीं वीडियो रिकॉर्डिंग में जीएसटी के अधिकारियों की एमडी चंद्रमोहन के साथ बातचीत हो रही है।

मनोज कालरा की फैक्टरी के सीसीटीवी में दिखाई देते जीएसटी अधिकारी।
X
मनोज कालरा की फैक्टरी के सीसीटीवी में दिखाई देते जीएसटी अधिकारी।

हरिभूमि न्यूज. सोनीपत-रोहतक

फैक्टरी संचालक से रिश्वत की नकदी लेने के लिए जीएसटी अधिकारियों (GST officers) ने कोड बना रखे थे, ताकि फोन पर किसी को शक न हो सके कि रिश्वत की डिमांड की जा रही हैं। वहीं उसका भुगतान के लिए क्या-क्या कहना हैं। पीडि़त ने जीएसटी अधिकारियों से हुई बातचीत की ऑडियो व वीडियो को सीबीआई को सौंपी हैं।

सीबीआई ने ऑडियों को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी हैं। ऑडियो रिकॉर्डिंग मनोज कालरा तथा फैक्टरी के एमडी चंद्रमोहन की जीएसटी अधिकारियों से बातचीत की है। वहीं वीडियो रिकॉर्डिंग में जीएसटी के अधिकारियों की एमडी चंद्रमोहन के साथ बातचीत हो रही है। हरिभूमि यहां ऑडियो और वीडियो रिकॉर्डिंगकी प्रमुख बातचीत बता रहा है, लेकिन इसमें संदिग्ध जीएसटी अधिकारियों के नाम नहीं लिखे जा रहे। संदिग्ध जीएसटी इंस्पेक्टर के नाम की जगह पर जीएसटी 1 लिखा हुआ है, वहीं जीएसटी के उच्च अधिकारी की जगह पर जीएसटी लिखा हुआ है। बता दें कि ऑडियो रिकाॅर्डिंग के जरिए पता चलता है कि जीएसटी के अधिकारी लगातार फैक्टरी संचालक पर दबाव बनाए हुए थे। पैसों के लेनदेन के लिये फैक्टरी मालिक ने भी कई बार अधिकारियों को टरकाया था।

सीबीआई और एंटी क्रप्शन ब्रांच के बिछाए जाल में अधीक्षक गिरफ्तार

जीएसटी का अधीक्षक सीबीआई और एंटी करप्शन ब्रांच के बिछाए जाल में फंस गया। 9 लाख रुपये रिश्वत लेने के आरोप में उसे गिरफ्तार कर लिया गया। जीएसटी का एक अन्य अधीक्षक और दो इंस्पेक्टर फिलहाल फरार हैं, जिन पर केस दर्ज किया गया है। आरोप है कि चारों ने राई के एक फैक्ट्री संचालक से रिश्वत ली है। रिश्वत के रुपये बरामद कर लिए गए हैं। जीएसटी अधिकारी को दबोचने के लिए सीबीआई ने फुल प्रूफ प्लानिंग की थी। सीबीआई की टीम राई से जीएसटी के चार अधिकारियों का पीछा करते-करते रोहतक तक पहुंच गई। शक होने पर एक अधीक्षक और दो इंस्पेक्टर फरार हो गए, जबकि एक अधीक्षक घर से गिरफ्तार किया गया। बताया जा रहा है कि अधीक्षक के घर से 65 लाख रुपये नकद भी मिले हैं, लेकिन अधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि नहीं की गई। सीबीआई ने अधीक्षक के घर के अलावा जीएसटी कार्यालय भी खंगाला।

फैक्टरी संचालक कालरा व जीएसटी अधिकारी के बीच हुई बातचीत व वीडियो रिकॉर्डिंग -

6 अगस्त (ऑडियो रिकॉर्डिंग)

कालरा- सर नमस्कार

जीएसटी-इंजी सर जी की हाल चाल हैं।

कालरा- बढ़िया-बढ़िया सर आप सुनाओ ठीक-ठाक हो सर। सर पहुंच गए थे सर ठीक ठाक।

जीएसटी-हां सर पहुंच गए थे। अच्छा सर वो सामान तीन किलो ही निकला हैं।

कालरा-सर तीन लाख डाले थे अभी बाकि मैं मिलता हुं मगलवार को....

जीएसटी-तीन....

कालरा- हा तीन लाख दिए थे। बाकि मैं आपको देता हूं मैं मंगलवार को ना सर।

- पहली कॉल के दौरान फोन कट गया था तो दोबारा मिलाया गया, उसकी रिकॉर्डिंग

जीएसटी-हलो

कालरा- कट गया था सर फोन ना.... मंगलवार मिलता हुं मैं आपको।

जीएसटी- नोट ऑडीबल

कालरा- क्या कह रहे हो सर

जीएसटी- आवाज नहीं आ रही सवेरे गल करांगे।

कालरा-हां कोई नी सर मंगलवार मिलता हूं एक बारी फिर ना।

फैक्टरी के एमडी चंद्र मोहन व संदिग्ध जीएसटी अधिकारी से बातचीत- बाद में जीएसटी के उच्च अधिकारी से बातचीत की वीडियो रिकार्डिंग

चंद्र- नमस्कार मलिक जी

जीएसटी 1- नमस्कार जी

चंद्र- कैसें है मलिक जी

जीएसटी 1- ठीक हैं जी

चंद्र- क्या हाल है भाई साहब, (नॉट ऑडिबल)

जीएसटी 1-आज कैस आना हुआ

चंद्र-बुलाया था ना मंगलवार को आपने

जीएसटी 1-मंगलवार को बुलाया था बात कर लेते

चंद्र-अच्छा आपने ही तो कहा था मंगलवार आ जाना

जीएसटी 1-सोहेल जी ने कहा होगा मैने नहीं

चंद्र-गुरविंद्र जी ने कहा था मंगलवार को आ जाना

जीएसटी 1- उन्होंने कहा होगा। फाइल तो मैने मूव करनी है उन्होंने नहीं करनी।

चंद्र-अच्छा मूव नहीं करी अभी। कब तक मूव करोगे। सर ने ही कहा था कि मंगलवार आ जाना आपको क्लीरियंस सार्टिफिटेक वगैरा दिलवा दूंगा।

जीएसटी 1- (नोट ऑडिबल)

चंद्र- नहीं

जीएसटी 1-आपको फोन करके आना चाहिए था। वो आ गए।

(यहां से वीडियो रिकॉर्डिंग )

चंद्र - नमस्कार सर।

जीएसटी -नमस्कार

चंद्र-कैसे है सर

जीएसटी 1-आपने कहा था इन्हे आने के लिए। मंगलवार कहा था।

जीएसटी- अच्छा।

चंद्र-आपने कहा था ना मंगलवार आने के लिए

जीएसटी-हा-हा...हा.... आ जाओ.... फोन तो कर देते।

चंद्र-सर मैंने आप, आपने खुद ही कहा था मंगलवार आ जाना इस लिए मैने किया नहीं।

जीएसटी-आओ बैठो। क्या हाल चाल हैं।

चंद्र-आर्शीवाद है आपका।

जीएसटी-अच्छा मास्क लगेया सी मैंने पहचाणया नी पहले।

चंद्र- अच्छा-अच्छा

जीएसटी- ठीक हैं

चंद्र-मास्क मे यही तो पता नहीं चलता ना जी।

जीएसटी- हूं-हूं।

सीएम- मास्क ना लगाएं तो बंद गाड़ी में भी चालान हैं पांच सौ का।

जीएसटी-बंद गाड़ी दा मिनो समझ नहीं आंदा की क्यों चलान हैं।

सीएम-सर कोई व्यापारी आया बंद गढ्ढी च उने कट ता।

चंद्र- दिल्ली में नहीं हैं।

सीएम- दिल्ली बॉडर, बीसवांपुर बार्डर पे।

आगे और भी बातचीत है, जिसमें मौसम, कोरोना केस आदि के बारे में बातचीत की गई है।

- 6.8.2020 को मनोज कालरा की राजीव राय व संदिग्ध जीएसटी इंस्पेकटर से बातचीत

आरजे-हू...भैंया

कालरा-कोई सामान वगैरा है क्या

आरजे -अरे वो आ गया हैं।

जीएसटी 1- कालरा जी

कालरा - नमस्कार।

जीएसटी 1-नमस्कार जी.. आपका ना यहां का सर्च वारंट हैं। आप आ जाओ यहीं। लेट मत करो।

कालरा-हा रास्ते में ही हु। आप कौन साहब बोल रहे हैं।

13.8.2020 को जीएसटी उच्चअधिकारी व कालरा के बीच बातचीत की ऑडियो रिकॉर्डिंग

जीएसटी-हेलो

कालरा- सर

जीएसटी-बारिश हो रही हैं।

कालरा-सारी फैक्टरी में पानी-पानी हो गया सर।

जीएसटी व कालरा में बारिश को लेकर बातचीत होती रही।

जीएसटी-यार आपका काम ना मंडे को करवाते हैं।

कालरा- मंडे को

जीएसटी-हम, सोनीपत ही मिल लेगें.... शाम को मिल लेगें। ठीक हैं।

कालरा-सोनीपत शाम को।

Next Story