Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Cm Manohar Lal बोले - प्रदेश में कोरोना मरीजों के लिए दवाइयाें व ऑक्सीजन के पुख्ता प्रबंध

मुख्यमंत्री ने कहा कि पानीपत ऑक्सीजन प्लांट से हरियाणा व दिल्ली के अलावा अन्य राज्यों को की जाने वाली आपूर्ति में कुछ कठिनाई आई थी, अब उसका समाधान कर लिया है।

Cm Manohar Lal बोले - प्रदेश में कोरोना मरीजों के लिए दवाइयाें व ऑक्सीजन के पुख्ता प्रबंध
X
प्रेसवार्ता को संबोधित करते सीएम मनोहर लाल।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश में कोविड-19 महामारी से संक्रमित मरीजों के लिए दवाइयां, ऑक्सीजन व अन्य सुविधाएं मुहैया करवाने के पुख्ता प्रबन्ध किए गए हैं। एहतियात के तौर पर कल सायं 6 बजे से भीड़भाड़ वाले बाजारों में गैर-आवश्यकत वस्तुओं वाली दुकानें बंद करने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री हरियाणा मंत्रिमण्डल की बैठक के बाद पत्रकारों को सम्बोधित कर रहे थे।

अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी पर पूछे गए प्रश्न के उत्तर में मुख्यमंत्री ने कहा कि पानीपत ऑक्सीजन प्लांट से हरियाणा व दिल्ली के अलावा अन्य राज्यों को की जाने वाली आपूर्ति में कुछ कठिनाई आई थी, अब उसका समाधान कर लिया है। प्रधानमंत्री से इस सम्बन्ध में उनकी बातचीत भी हुई थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि पानीपत ऑक्सीजन प्लांट से ट्रकों में ऑक्सीजन भरने के लिए रोस्टर बना दिया गया है। अब से एक ट्रक हरियाणा के लिए और दो ट्रक दिल्ली व पंजाब के लिए भरे जाएंगे। उन्होंने कहा कि वे स्वयं पानीपत प्लांट की मोनिटरिंग कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का भी फोन आया था और उन्होंने भी इस पर सन्तुष्टि जताई है। उन्होंने बताया कि पानीपत प्लांट में प्रतिदिन 260 मीट्रिक टन ऑक्सीजन उत्पादन की क्षमता है, जिसमें से 140 मीट्रिक टन दिल्ली के लिए तथा 80 मीट्रिक टन हरियाणा के लिए निर्धारित है तथा 20 मीट्रिक टन पंजाब के लिए है। हरियाणा को राजस्थान के भिवाड़ी प्लांट से भी 20 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति की जाती है। कल उसमें कुछ दिक्कतें आई थी, आज वे राजस्थान के मुख्यमंत्री से भी बातचीत करेंगे।

कोरोना मरीजों के लिए वैंटीलेटर वाले बैड की स्थिति पर मुख्यमंत्री ने कहा कि गुरुग्राम व फरीदाबाद में बैड की उपलब्धता ऑनलाइन कर दी गई है। गुरुग्राम के एसजीटी मैडिकल कॉलेज में 500 बैडों की व्यवस्था कर दी गई है। इसके अलावा, वहां के इंडस्ट्रीयल एरिया में 150 बैड की व्यवस्था की जा रही है और 50 बैड की व्यवस्था आज हो गई है। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना ने भी मदद की पहल की है। डीआरडीओ द्वारा पानीपत व हिसार में 500-500 बैड की व्यवस्था की जा रही है। चण्डीमंदिर के सेना कमांडर से भी बातचीत हुई है। डाक्टर व अन्य सुविधाएं सेना द्वारा उपलब्ध करवाई जाएंगी।


Next Story