logo
Breaking

सावधान! इस वजह से युवाओं में बढ़ रही है हार्ट प्रॉब्लम, रखें अपना ध्यान

बेकार लाइफस्टाइल और सही खान-पान न होने के कारण युवाओं की सेहत पर असर पड़ता है। खराब लाइफस्टाइल का सबसे ज्यादा असर युवाओं के हार्ट यानि हृदय पर पड़ता है। विशेषज्ञों ने इस बात की पुष्टि की है कि इन दिनों लगातार हार्ट पेशेंट्स की संख्या बढ़ती जा रही है, जिसकी मूल वजह सही लाइफस्टाइल का न होना है।

सावधान! इस वजह से युवाओं में बढ़ रही है हार्ट प्रॉब्लम, रखें अपना ध्यान

बेकार लाइफस्टाइल और सही खान-पान न होने के कारण युवाओं की सेहत पर असर पड़ता है। खराब लाइफस्टाइल का सबसे ज्यादा असर युवाओं के हार्ट यानि हृदय पर पड़ता है। विशेषज्ञों ने इस बात की पुष्टि की है कि इन दिनों लगातार हार्ट पेशेंट्स की संख्या बढ़ती जा रही है, जिसकी मूल वजह सही लाइफस्टाइल का न होना है।

एनबीटी की रिपोर्ट के मुताबिक मैक्स हॉस्पिटल, पटपड़गंज, दिल्ली के हार्ट स्पेशलिस्ट डॉ. ऋत्विक राज ने कहा कि युवाओं को अगर हार्ट प्रॉब्लम्स हो रही हैं तो वह उनकी खराब लाइफस्टाइल का नतीजा है। उन्होंने कहा कि चाहे गांव हो या फिर शहर इन दिनों लगातार हार्ट पेशेंट की संख्या तेजी से बढ़ रही है।

यह भी पढ़ें: पहली प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं के मन में आते हैं ऐसे ख्याल, सोचती हैं ये बातें

इसके अलावा डॉ. राज ने यह भी कहा कि आगे आने वाले दिनों में दुनियाभर में सबसे ज्यादा मौत का कारण हार्ट अटैक या दिल से जुड़ी बीमारियों के कारण होगा।

उन्होंने बताया कि ताजा आंकड़ों के मुताबिक विश्व में लगभग 1.70 लाख लोगों की मृत्यु हार्ट डिसीसेज की वजह से ही होती है। अगर बात की जाए भारत की तो भारत में 3 मिलियन लोगों की मौत का कारण भी दिल से जुड़ी बीमारी या हार्ट अटैक होता है।

यह भी पढ़ें: इन लोगों को भूलकर भी नहीं खाना चाहिए पपीता, खतरे में पड़ सकती है जान

ये है वजह

डॉ. राज ने इसके पीछे की वजह बताते हुए कहा कि काम के चलते व्यस्त लाइफस्टाइल के कारण ज्यादातर युवा फिजीकली एक्टिव नहीं रहते हैं। यही वजह है कि युवाओं में कार्डियो वस्कुलर, टाइप 2 डायबिटीज, मोटापा जैसी समस्याएं होने के चांसेस दोगुना बढ़ जाते हैं। इनकी वजह से हाई ब्लड प्रेशर और अन्य दिक्कतें होती हैं, जिनका दिल की बीमारी से सीधा संबंध है।

Share it
Top