logo
Breaking

टीवी स्टार श्वेता खंडूरी की तरह रहना है हेल्दी और फिट, तो फॉलो करें ये फिटनेस टिप्स

श्वेता खंडूरी ने अपने करियर की शुरुआत साउथ की फिल्मों से की। एक्टिंग पर फोकस करने के साथ-साथ श्वेता अपनी फिटनेस को लेकर भी काफी कॉन्शस रहती हैं। अपना फिटनेस फंडा सहेली से शेयर कर रही हैं, श्वेता खंडूरी।

टीवी स्टार श्वेता खंडूरी की तरह रहना है हेल्दी और फिट, तो फॉलो करें ये फिटनेस टिप्स

हम सभी के लिए हेल्दी और फिट रहना जरूरी है। मैं अपनी फिटनेस को लेकर टीनएज से ही अवेयर रही हूं। इसकी वजह यह रही कि मैं एक स्पोर्ट पर्सन भी हूं। स्कूल, कॉलेज टाइम में कई गेम्स मैं स्टेट लेवल पर खेल चुकी हूं।

मैं अपनी फिटनेस को बरकरार रखने के लिए काफी मेहनत करती हूं। मैं कभी भी अपनी डाइट को लेकर लापरवाह नहीं रहती और न ही वर्कआउट स्किप करती हूं।

न्यूट्रीशस डाइट

मैं जंक फूड नहीं खाती हूं। मुझे क्या खाना है, क्या नहीं इसे लेकर मैं बहुत अलर्ट रहती हूं। मेरा मानना है कि हम जैसा खाते हैं, वैसा ही हमारे शरीर पर उसका असर होता है। मैं अपनी बॉडी को सिर्फ हेल्दी डाइट ही देती हूं।

इसके अलावा मेरी डाइट में खूब लिक्विड भी शामिल होता है। यह किसी भी रूप में हो सकता है, जैसे नारियल पानी, फ्रूट जूस, सब्जियों का जूस और नीबू पानी। मैं दिनभर में सादा पानी भी खूब पीती हूं।

दिन की शुरुआत भी मैं गरम पानी पीकर करती हूं। फिर थोड़ी देर बाद नारियल पानी पीती हूं। जहां तक खाने का सवाल है तो मैं हर दो घंटे के बाद छोटे-छोटे मील्स लेती हूं। ऐसा करने से वजन नहीं बढ़ता है।

रेग्युलर योगा-वर्क आउट

हेल्दी डाइट जितनी जरूरी है, उतना ही वर्क आउट करना भी जरूरी है। मैं जिम जाती हूं। योग करती हूं। योगा में खासकर सूर्य नमस्कार और हलासन जरूर करती हूं। इससे बॉडी पॉश्चर ठीक रहता है और पॉजिटिव एनर्जी भी महसूस होती है।

मुझे स्वीमिंग करना भी बहुत पसंद है। सबसे ज्यादा मैं स्वीमिंग करती हूं। इसके अलावा मैं रोज एक घंटा डांस करती हूं। यह मेरे डेली रुटीन का एक इंपॉर्टेंट पार्ट है। इससे मैं फिट भी रहती हूं और स्ट्रेस भी दूर हो जाता है।

लाइफस्टाइल मेंटेन रखती हूं

हम एक्टर्स के काम का नेचर ऐसा है कि यहां कुछ भी फिक्स शेड्यूल में नहीं होता है। ऐसे में सोने के लिए टाइम मैनेज करना मुश्किल होता है। आजकल मेरा वर्क शेड्यूल ऐसा है कि रात को शूटिंग कर रही हूं और दिन में सो रही हूं।

कई बार ट्रैवलिंग के समय सोकर अपनी नींद पूरी कर लेती हूं। लेकिन मैं अपने सोने के घंटों से समझौता नहीं करती हूं, 7 से 8 घंटे नींद जरूर लेती हूं। इससे बॉडी को आराम मिलता है और मैं एनर्जेटिक फील करती हूं।

सेल्फ टाइम

मैं रोज रात को 5-10 मिनट खुद को देती हूं। इस समय मैं अपनी आंखें बंद करती हूं और मौन हो जाती हूं। इस दौरान मेरी कोशिश रहती है कि मेरे मन में कोई विचार नहीं आना चाहिए। खुद को यह क्वालिटी टाइम देने के बाद अच्छे से सो पाती हूं।

Share it
Top