Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जानिए क्या है सच, शादी के दिन होने वाली बारिश का

इंडिया में शादी को एक उत्सव बन जाने में समय नहीं लगता। आप चाहे वर पक्ष से हों या फिर वधु की ओर से हों... तैयारियां तो दोनों तरफ से जोरों-शोरों से ही होती हैं। यही तो कारण है कि अक्सर भारतीय शादियां ‘बिग फैट वेडिंग’ लिस्ट का हिस्सा बनती हैं।
शादी की एक-एक रस्म को निभाने के लिए सभी चीज़ें एकत्रित करना ही भारतीय शादियों का सबसे बड़ा चैलेंज होता है। केवल शादी ही तो एक दिन नहीं है ना, शादी से पहले और बाद में भी कई रिवाज़ निभाए जाते हैं।
दरअसल भारत जैसे देश में इतनी सारी संस्कृतियों के बीच विभिन्न तरीके के रिवाज़ होते हैं। लेकिन इतना कुछ करने के बाद भी लोग शादी के दिन का इंतज़ार करते हुए घबराते हैं, कारण ‘कहीं शादी के दिन बारिश ना हो जाए’।
लेकिन ऐसा क्यों? बारिश होना अपने आप में एक मज़ा ही तो है। यह बारिश गर्म वातावरण को ठंडा करती है, प्रदूषण को भी कम करती है साथ ही बच्चों की तो फेवरिट होती है बरसात।
लेकिन यही बारिश जब कोई जरूरी काम करना हो तो मुसीबत भी बन जाती है। सड़कों पर बारिश का पानी इकट्ठा हो जाने से कहीं आने-जाने में दिक्कतें आती हैं। यदि आपके पास गाड़ी नहीं है तो कहीं भी जाने के लिए भीगते हुए जाना पड़ता है।
शायद इसीलिए शादी के दिन कार्यक्रमों को सही तरीके से कराने में यह वर्षा सबसे बड़ा बाधक बनती है। लेकिन क्या बस यही कारण है?
शायद नहीं... दरअसल विभिन्न मान्यताओं में शादी के दिन बारिश हो जाने जैसी बात से कई सारे विश्वास एवं अंधविश्वास जुड़े हैं। कोई कहता है यह गुड लक है तो कोई भगवान से यह मिन्नतें करता है कि काश मेरी शादी के दिन बारिश ना हो, क्योंकि यह एक बुरा प्रभाव माना जाता है।
लेकिन सामान्य नज़रिये से देखें तो शादी एक ऐसा दिन है जब कोई भी वर या वधु किसी भी प्रकार की अड़चन को पसंद नहीं करता। लेकिन जब बात बारिश जैसी प्राकृतिक घटना की हो, तो यह किसी के वश में नहीं।
हर जगह शादी के दिन होने वाली बारिश को लेकर अलग-अलग मान्यता है । अलग-अलग संस्कृतियों के लोगों का मानना है कि वर्षा जिस प्रकार से वातावरण को स्वच्छ करने का काम करती है, उसी प्रकार से यह शादी के दिन को भी अच्छा बनाती है। बारिश आने से सभी जगह खुशहाली बंटती है और इसीलिए किसी की शादी के दिन यदि वर्षा हो जाए तो यह एक शुभ प्रतीक माना जाता है।
जिस वर-वधु की शादी के दिन वर्षा हो जाए, इसका अर्थ है कि उन्हें संतान का सुख जल्द से जल्द प्राप्त होगा। इसके अलावा वर्षा को सकारात्मक ऊर्जा का भी प्रतीक माना जाता है।
Next Story