Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ में सबको करना है इम्प्रेस तो आज ही बदल लें ये 5 आदतें

विनम्रता का गुण, पर्सनल रिलेशन को बेहतर बनाने से लेकर, प्रोफेशनल लाइफ में भी आगे बढ़ने में मददगार साबित होता है। इस एक क्वालिटी को डेवलप कर आप आसानी से सबकी फेवरेट भी बन सकती हैं। इसके लिए आपको देना होगा कुछ बातों पर ध्यान।

पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ में सबको करना है इम्प्रेस तो आज ही बदल लें ये 5 आदतें
X

दीप्ति की किसी से नहीं बनती है, चाहे घर-परिवार के लोग हों, रिश्तेदार हों या ऑफिस कुलीग्स। अक्सर किसी न किसी बात को लेकर उसका लोगों से मनमुटाव हो जाता है। उसे लगता है कि सभी को उससे समस्या है, जबकि दूसरी तरफ उसकी ही बड़ी बहन सुरभि को हर जगह पसंद किया जा सकता है। एक ही घर में रहने के बावजूद दोनों की अलग-अलग स्थिति है।

दरअसल, इसकी वजह दीप्ति और सुरभि का व्यवहार है। सुरभि हर किसी के साथ विनम्रता से बात करती है। जबकि दीप्ति का बात करने का तरीका बहुत ही रूखा होता है। ऐसा नहीं है कि दीप्ति खुद के व्यवहार को विनम्र नहीं बना सकती है, वह भी ऐसा कर सकती है।

अगर कुछ छोटी-छोटी बातों पर ध्यान दिया जाए तो हर कोई अपने व्यवहार में, बोलचाल में विनम्रता ला सकता है और सबके बीच अपनी छवि बेहतर बना सकता है।

यह भी पढ़ें : http://Daughter's Day 2018: बेटियों के बिना अधूरा है कल

मुस्कुराकर बात करें

विनम्र तरीके से व्यवहार करने के लिए हमें बड़े-बड़े प्रयास करने की जरूरत नहीं होती है। छोटी-छोटी बातों के जरिए भी इसे जाहिर किया जा सकता है। जैसे जब भी किसी से घर में, आस-पड़ोस में या ऑफिस में मिलें तो स्माइल करते हुए मिलें,इसके बाद उनका हाल-चाल पूछें। ऐसा करने पर आपको तो अच्छा लगेगा ही,साथ ही सामने वाले को भी आपके व्यवहार से खुशी मिलेगी।

थैंक्यू-सॉरी का इस्तेमाल

थैंक्यू और सॉरी बहुत छोटे शब्द हैं, लेकिन इनका असर बहुत ज्यादा होता है। इन शब्दों का इस्तेमाल अपनी बोलचाल में करें। जब भी कोई गलती हो तो सॉरी कहें, इसी तरह कोई आपकी मदद करे तो थैंक्यू कहें। इसके अलावा कभी भी किसी के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल बिल्कुल न करें।

सभी का सम्मान करें

हर शख्स के विचार एक-दूसरे से अलग होते हैं। नाते-रिश्तेदारों और अपनों के साथ भी यही स्थिति होती है। हो सकता है कुछ बातों पर आपकी, अपनों भी राय नहीं मिलती हो, लेकिन जब कभी भी आप किसी से बहस करें तो उसके सम्मान का ख्याल रखें।

इससे सामने वाले को अहसास होगा कि आप गुस्सा होने पर भी कितने विनम्र रहते हैं। इसके अलावा जब कोई अपनी बात कह रहा हो तो उसे ध्यान से सुनें, बीच में बिल्कुल न टोकें। इससे भी आपके पोलाइट बिहेवियर का पता चलता है।

यह भी पढ़ें :अगर आप मैरिड लाइफ में कर रहे हैं ये गलती, तो आपका पार्टनर हो सकता है आपसे दूर

तारीफ करना भी जरूरी

अपनी तारीफ सुनकर आपको अच्छा लगता है तो दूसरों को भी ऐसा ही महसूस होता है,कहने का मतलब है कि जब भी कोई अच्छा काम करे तो उसकी तारीफ जरूर करें, यह बात घर,ऑफिस और नाते-रिश्तेदारों,सब पर लागू होती है।

दूसरों की मदद को रहें तैयार

आप चाहें कहीं भी काम क्यों न करते हों,लेकिन अगर आप दूसरों की मदद को हमेशा तैयार रहते हैं, तो आप आसानी से ही ऑफिस और अपने रिश्तेदारों के दिलों में आसानी से अपने लिए जगह बना सकते हैं और तारीफ के काबिल बन जाते हैं।

इससे भी आपके अच्छे नेचर का पता चलता है। इन बातों का ख्याल रखकर आप विनम्रता को अपने व्यवहार का हिस्सा बना सकती हैं और सबकी फेवरेट बन सकती हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story