logo
Breaking

अगर दिखें ये संकेत तो समझ जाइए होगी नॉर्मल डिलीवरी

प्रेग्नेंसी और डिलीवरी पर हमारी लाइफस्टाइल का भी असर पड़ता है। आजकल की लाइफस्टाइल ज्यादा थकान भरी होती है। रोज की भागदौड़ और बिजी लाइफ का इफेक्ट महिलाओं पर ज्यादा पड़ता है।

अगर दिखें ये संकेत तो समझ जाइए होगी नॉर्मल डिलीवरी

प्रेग्नेंसी और डिलीवरी पर हमारी लाइफस्टाइल का भी असर पड़ता है। आजकल की लाइफस्टाइल ज्यादा थकान भरी होती है। रोज की भागदौड़ और बिजी लाइफ का इफेक्ट महिलाओं पर ज्यादा पड़ता है।

स्वास्थ्य पर पड़ने वाले असर के कारण नॉर्मल डिलीवरी होना आसान नहीं है। ऑपरेशन से हुए बच्चों में महिलाओं को ज्यादा दिक्कतों को सामना करना पड़ता है जबकि नॉर्मल डिलीवरी के बाद कम दिक्कतें झेलनी पड़ती हैं। अगर आप भी नॉर्मल डिलीवरी चाहती हैं तो प्रेग्नेंसी के दौरान इन बातों का ध्यान रखें।

प्रेग्नेंसी एजुकेशन

प्रेग्नेंसी एजुकेशन बहुत जरूरी है। बहुत जरूरी है कि आपको प्रेग्नेंसी से जुड़ी सभी जानकारियां हों।

डाइट

प्रेग्नेंसी में अच्छी डाइट बहुत जरूरी होती है। हेल्दी डाइट आपको और आपके बच्चे के स्वास्थ्य को अच्छा बनाएगा। ध्यान रहे कि ओवर इटिंग न करें। इससे वजन बढ़ने का खतरा रहता है, जो नॉर्मल डिलवरी को प्रभावित करता है।

स्ट्रेस न लें

नॉर्मल डिलीवरी के लिए बहुत जरूरी है कि प्रेग्नेंसी के दौरान स्ट्रेस और टेंशन न लें। किसी भी परेशानी के लिए टेंशन न लें।

खूब पानी पीएं

प्रेग्नेंसी के दौरान महिला के लिए बहुत जरूरी है कि वह ज्यादा से ज्यादा पानी पीए। इससे लेबर पेन के दौरान राहत मिलती है। इसके अलावा ताजे फलों का जूस और एनर्जी ड्रिंक्स भी ले सकते हैं।

एक्सरसाइज

गर्भावस्था में एक्सरसाइज जरूर करें। जोड़ों में दर्द, अकड़न जैसी तकलीफ से बचने के लिए एक्सरसाइज कारगर साबित होगी।

मालिश

गर्भावस्था के आखिरी तीन महीनों में मालिश करवाना जरूरी है। इससे शरीर लेबर पेन के लिए तैयार होगा।

Share it
Top