Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मदर टेरेसा की तरह इन ''माताओं'' ने भी दी सैकड़ों बच्चों को नई जिंदगी, जानें इनके बारे में

बात सेकेंड वर्ल्ड वार के समय की है। उन दिनों इरेना सेंडलर, जर्मन अधिकृत पोलैंड के वारसा सोशल वेलफेयर विभाग में काम करती थीं।

नाजियों के अत्याचार और नरसंहार से बचाने के लिए इस करुणामयी मां ने अपनी जान जोखिम में डालकर करीब 2500 यहूदी बच्चों को इधर-उधर छद्म पहचान से छिपा दिया।

इन्हें नकली दस्तावेजों से गैर यहूदी पहचान देकर मिशनरियों, अनाथालयों और कॉन्वेंट स्कूलों में भर्ती करवा दिया। बाद में नाजियों को इस बात का पता चला, तो उन्होंने इरेना को खूब प्रताड़ित किया।

लेकिन दयालु इरेना ने उन्हें एक भी बच्चे की सही जानकारी नहीं दी। उनके मानवीय प्रयास के लिए 2003 में इरेना को पोलैंड सरकार ने व्हाईट ईगल पुरस्कार से सम्मानित किया।

Next Story