Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

इन कारणों से होता है गर्भपात, रखें इन बातों का ध्यान

गर्भपात की खबर किसी भी महिला के लिए दुखदायी हो सकती है। ऐसा इसलिए क्योंकि किसी भी महिला के लिए गर्भवती होना यानि मां बनने का सुख सबसे हसीन होता है। ऐसे में जब भी कोई महिला गर्भवती होता है और उसका गर्भपात हो जाता है तो यह उस महिला के लिए बहुत दुखदायी होता है।

इन कारणों से होता है गर्भपात, रखें इन बातों का ध्यान

गर्भपात की खबर किसी भी महिला के लिए दुखदायी हो सकती है। ऐसा इसलिए क्योंकि किसी भी महिला के लिए गर्भवती होना यानि मां बनने का सुख सबसे हसीन होता है। ऐसे में जब भी कोई महिला गर्भवती होता है और उसका गर्भपात हो जाता है तो यह उस महिला के लिए बहुत दुखदायी होता है।

सामान्यतौर पर गर्भपात होने के सबसे ज्यादा चांसेस गर्भधारण करने के 20वें हफ्ते में होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि जब भ्रूण का विकास सही तरीके से नहीं होता है तो गर्भवती महिला का शरीर नैचुरल तरीके से उसे निष्कासित कर देता है।

गर्भपात होने पर महिला के मन में आती है ये बातें

गर्भपात के कई कारण होते हैं, लेकिन एक बार मिसकैरिज होने के बाद महिलाएं इसके लिए खुद को ही दोषी मानने लगती हैं। महिलाओं के मन में तरह-तरह की बातें आने लगती हैं, जिसकी वजह से वह हर वक्त उसके बारे में ही सोचती रहती हैं।

यह भी पढ़ें: किस उम्र में कराएं कौन-से चेकअप, जानें यहां

किस उम्र में होता है गर्भपात

वैसे तो कई कारणों की वजह से गर्भपात की समस्या किसी भी उम्र में हो सकती है। लेकिन महिलाओं के 40 की उम्र पार करने के बाद गर्भपात होने के चांसेस 20 गुना बढ़ जाते हैं।

गर्भपात के लक्षण

  • योनि से रक्त स्राव
  • पेट में लगातार दर्द
  • कमर के निचले हिस्से में दर्द
  • वजाइना से सेमी-सॉलिड पदार्थ का स्राव

यह भी पढ़ें: कमर दर्द का कारण और कमर दर्द के घरेलू उपाय

रखें इन बातों का ध्यान

  • गर्भावस्था के दौरान बिल्कुल भी टेंशन न लें।
  • गर्भावस्था में सात्विक आहार लें।
  • ज्यादा मसालेदार, बासी खाना और ऑयली चीजों को खाने से बचें।
  • पर्याप्त नींद लें और समय पर सोने की आदत डालें।
  • श्वसन संबंधी व्यायाम, मेडिटेशन जैसी लाभ पहुंचाने वाले व्यायाम करें।
Next Story
Top