Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

World Environment Day 2020 : पर्यावरण संरक्षण के जरिए कैंसर के मामले हो सकते हैं कम, जीवन में ये करें ये सुधार

World Environment Day 2020 : देश में कैंसर के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। राजीव गांधी कैंसर इंस्टीट्यूट एंड रिसर्च सेंटर का कहना है कि पर्यावरण संरक्षण और जीवन शैली में सुधार के जरिए इस खतरनाक बीमारी से बचा जा सकता है।

World Environment Day 2020 : पर्यावरण संरक्षण के जरिए कैंसर के मामले हो सकते हैं कम, जीवन में ये करें ये सुधार
X
आरजीसीआईआरसी के डायरेक्टर मेडिकल ओंकोलॉजी डॉ. विनीत तलवार

World Environment Day 2020 : भारत में कैंसर के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। देश के लाखों लोग कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं। जिसका बड़ा कारण में पर्यावरण के स्तर में लगातार गिरावट का आना। पर्यावरण संरक्षण और स्वस्थ जीवनशैली के जरिये कैंसर से बचा जा सकता है।

नई दिल्ली स्थित देश के प्रमुख कैंसर केयर सेंटर राजीव गांधी कैंसर इंस्टीट्यूट एंड रिसर्च सेंटर (आरजीसीआईआरसी) के डायरेक्टर मेडिकल ओंकोलॉजी डॉ. विनीत तलवार ने कहा कि धूम्रपान, वायु प्रदूषण, डीजल का धुआं कुछ ऐसे अहम कारण हैं, जिनसे लंग (फेफड़े के) कैंसर के मामले बढ़ रहे हैं। जो लोग ऐसे प्लास्टिक के कारखानों में काम करते हैं, जहां बेंजीन कंपाउंड का इस्तेमाल होता है, उनमें यूरीनरी ब्लेडर के कैंसर का खतरा रहता है। इसी तरह फंगल टॉक्सिंस के संपर्क में आने वालों में लीवर के कैंसर का खतरा ज्यादा रहता है। उन्होंने कहा कि आधुनिक समय की जरूरतों से बचा तो नहीं जा सकता है, लेकिन हर व्यक्ति को अपनी हिफाजत को लेकर सतर्क रहना चाहिए।

हम जैसा करते हैं, वैसा ही भरते हैं। अगर हम पर्यावरण को प्रदूषित करेंगे, तो पलटकर यह हमें भी नुकसान पहुंचाता है, जो कि ग्लोबल वार्मिंग में वृद्धि से पता चलता है। डॉ. तलवार ने कहा हमें बचाव पर ध्यान देते हुए पर्यावरण के संरक्षण में योगदान करना चाहिए। डॉ. तलवार ने आगे कहा कि एक स्वस्थ जीवनशैली कैंसर के मामले में प्राणरक्षक साबित हो सकती है। मोटापा, आलस, लो रफेज (कम फाइबर वाले) भोजन कुछ ऐसे कारण हैं, जो हमें अलग-अलग कैंसर के खतरे की ओर ले जाते हैं।

Next Story