Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Coronavirus:कोरोना की लड़ाई मदद करेगा WardBot, इंफेक्शन के संपर्क में आने से रोकेगा

Coronavirus: कोरोना के कारण पिछले कुछ महीनों से लगातार बुरी खबरे सुनने को मिल रही है। वहीं इसी बीच कुछ अच्छी बातें भी हो रही हैं। हाल ही में में IIT रोपड़ के रिसर्चर्स ने (WardBot) नामक एक अवधारणा विकसित की है। जो कोरोना वायरस की लड़ाई काफी मदद कर सकता है।

Coronavirus:कोरोना की लड़ाई मदद करेगा WardBot, इंफेक्शन के संपर्क में आने से रोकेगा
X

Coronavirus: दुनिया के ज्यादातर देशों में कोरोना वायरस के कारण मायूसी छाई हुई है। इस खतरनाक वायरस की चपेट में आने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। लाखों लोग कोरोना वायरस का शिकार हो चुके हैं। जिनमें हजारो लोग इस वायरस के चलते दम तोड़ चुके हैं। इसके साथ ही पिछले कुछ महीनों से लगातार बुरी खबरे सुनने को मिल रही है। वहीं इसी बीच कुछ अच्छी बातें भी हो रही हैं। हाल ही में में IIT रोपड़ के रिसर्चर्स ने (WardBot) नामक एक अवधारणा विकसित की है। जो कोरोना वायरस की लड़ाई काफी मदद कर सकता है।

पीड़ित के वार्ड में जाने की जरूरत तो खत्म कर देगा

WardBot की मदद से कोरोना पीड़ित के वार्ड मेंं किसी भी स्टाफ को जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। यह पीड़ित के वार्ड में जाने की जरूरत तो खत्म कर देगा। इसकी मदद से स्टाफ कोरोना मरीज के संपर्क में आने से बचे रहेंगे। WardBot के कारण डॉक्टर, स्टाफ, वार्ड ब्वॉय को कोरोना मरीज के पास जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

कुछ इंजीनियरों ने मिलकर तैयार किया है

यह मॉडल आईआइटी डिपार्टमेंट ऑफ मैकेनिकल इंजीनियरिंग की हेड और एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. एक सिंगला की टीम के कुछ इंजीनियरों ने मिलकर तैयार किया है। बताया जा रहा है कि इस रोबोट की मदद से जरूरी दवा, खाने पीने की चीजें मरीज तक पहुंच जाएंगी। वहीं इस रोबोट को कंट्रोल रूम से कंट्रोल किया जाएगा।

पिछले 4 महीने से टीम इस वार्ड बोट पर काम रही है

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पिछले 4 महीने से टीम इस वार्ड बोट पर काम कर रही है। वहीं यह रोबोट कम रोशनी में भी काम कर सकता है। कर्फ्यू की वजह से अभी इसके बनाने का सामान नहीं आ पा रहा है। जिस कारण ये रोबोट अभी पूरी तरह तैयार नहीं हो पाया है। जल्द ही इसपर काम फिर से शुरू किया जाएगा।



Shagufta Khanam

Shagufta Khanam

Jr. Sub Editor


Next Story