Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

फूड आइटम्स जो हैं न्यूट्रीशन के पावर हाउस

जरूरी नहीं कि हेल्दी रहने के लिए अधिकतर महंगे फूड आइटम्स खाना चाहिए। आप कुछ फूड्स को ही अपनी डाइट में शामिल करके भी न केवल हेल्दी और एनर्जेटिक रह सकते हैं, साथ ही कई बीमारियों से भी बचे रह सकते हैं।

ऐसे बनाएं चुकंदर आलू की भुजिया, खाने में लजीज और सेहत के लिए फायदेमंद
X

दुनिया के नामचीन हेल्थ एक्सपर्ट्स और डाइटिशियंस ने कुछ फूड्स को न्यूट्रीशन का पावर हाउस बताया है। ये न सिर्फ विभिन्न रोगों से लड़ने में आपकी मदद करते हैं बल्कि शरीर को भरपूर पोषण भी देते हैं। आइए जानते हैं न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित इन विशेषज्ञों की राय के अनुसार सुपर फूड्स के बारे में।

मिक्स नट्स

न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर, न्यूट्रीशनिस्ट और डाइटीशियन माया फेलर के मुताबिक, नट्स हार्ट हेल्दी फैट्स और प्रोटीन के समृद्ध स्रोत होते हैं। इनमें फाइबर, कैल्शियम और मैग्नीशियम भी पाए जाते हैं। अखरोट एंटीऑक्सीडेंट्स और बादाम, कैल्शियम का अच्छा स्रोत है। काजू और पिस्ता, एनर्जी और विटामिंस के अच्छे स्रोत हैं।

डार्क चॉकलेट

ब्रिघम वूमेंस हॉस्पिटल में एसोसिएट साइकिएट्रिस्ट डॉक्टर एस. नाडकर्णी ने मूड डिसऑर्डर्स के लिए चॉकलेट को गुणकारी बताया है। यह बीपी कंट्रोल और हार्ट डिजीज में भी फायदेमंद है। इसमें मौजूद फ्लेवोनॉएड ब्रेन में ब्लड फ्लो को दुरुस्त करके मूड बूस्ट करता है। साथ ही इसके सेवन से सेरोटोनिन यानी खुशी के हार्मोन का लेवल भी बढ़ता है।

लेंटिल्स

न्यूयॉर्क सिटी में फ्रेश मेड एट फिजियोलॉजी मंं मेडिसिन स्पेशलिस्ट डॉ. रॉबर्ट ग्राहम ने लेंटिल्स को ब्लड शुगर, वेट गेन, रीप्रोडक्टिव हेल्थ और कैंसर जैसी समस्याओं में गुणकारी माना है। इसमें किसी दूसरे प्लांट की तुलना में प्रोटीन की सर्वोच्च मात्रा होती है। आयरन, फोलेट, मैग्नीशियम और पोटेशियम भी इसमें खूब होता है। दुनिया के सबसे दीर्घजीवी लोगों में इसके सेवन की आदत होती है।

पालक

डाइटीशियन संगीता मिश्र पालक को कैरोटीनॉएड का अच्छा स्रोत मानती हैं। इसके फाइटोकेमिकल्स में एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटी कैंसरस गुण होते हैं। इसमें विटामिन ए की प्रचुर मात्रा होती है, जो आंखों की दृष्टि के लिए बेहद लाभदायक है। साथ ही इसमें आयरन होता है, जो रेड ब्लड सेल्स को शरीर में ऑक्सीजन की सप्लाई रखने में मददगार है। इतना ही नहीं पालक में विटामिन सी, के, फोलेट, मैंगनीज और मैग्नीशियम भी खूब होता है।

ब्रोक्कली स्प्राउट्स

वाशिंगटन डीसी की फिटनेस एक्सपर्ट लीसा रीड कहती हैं कि स्प्राउट्स में सल्फोराफैन नामक एंटीऑक्सीडेंट होता है, जो एक बेहतरीन एंटी माइक्रोबियल, एंटी इन्फ्लेमेटरी और न्यूरोप्रोटेक्टिव है। यह डायबिटीज और एजिंग से भी सुरक्षा करता है। यह एंटीऑक्सीडेंट फूल गोभी, ब्रुसेल्स स्प्राउट्स, पत्ता गोभी और बोकचोय में भी होता है। लेकिन ब्रोक्कली स्प्राउट्स में यह सबसे ज्यादा होता है। कुकिंग से यह नष्ट हो सकता है। इसलिए इसे स्प्राउट के रूप में लेना चाहिए।

ओवरनाइट ओट्स

न्यूयॉर्क के लेनोक्स हिल हॉस्पिटल में गेस्ट्रोएंट्रोलॉजिस्ट डॉक्टर एलेना इवानीना ने रात भर दूध में भिगोए रॉ रोल्ड ओट्स को रेजिस्टेंट स्टार्च का जबरदस्त स्रोत बताया है। पकाने पर भी इनमें यह स्टार्च रहता है। लेकिन तब इसकी मात्रा कम हो जाती है। रेजिस्टेंट स्टार्च पेट में फर्मेंट होता है। इससे अच्छे बैक्टीरिया बढ़ते हैं और बुरे बैक्टीरिया कम होते हैं। इससे कंस्टीपेशन की समस्या दूर होती है और कोलन कैंसर का जोखिम कम होता है। साथ ही यह ग्लूकोज रिलीज करके इंसुलिन डिमांड भी कम करता है और एब्जॉर्ब की हुई कैलोरी भी घटाता है, इससे डायबिटीज और वेट गेन की समस्या पर भी लगाम लगती है। रेजिस्टेंट स्टार्च शॉर्ट चेन फैटी एसिड्स का अच्छा स्रोत है। इससे भूख पर नियंत्रण होता है।

अनार

इंडियन डायटिक एसोसिएशन की एग्जिक्यूटिव सदस्य और न्यूट्रीशन थेरेपिस्ट निलांजना सिंह के अनुसार, अनार स्वयं में एक फार्मेसी है। इनमें ग्रीन टी से 3 गुना ज्यादा एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं। यह आर्टरी में जमे प्लाक को दूर करता है, कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ मेंटेन करता है, इंफ्लेमेशन से लड़ता है और वेट मैनेजमेंट में मदद करता है। साथ ही इसमें भरपूर फाइबर, विटामिन सी, के, बी और कैल्शियम, पोटेशियम, आयरन भी होते हैं। ये स्किन डैमेज और कई तरह के कैंसर से रक्षा करता है। लेकिन डायबिटिक और रेनल डिजीज से पीड़ित लोगों को इसका सेवन चिकित्सक की सलाह से ही करना चाहिए।

Next Story