Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

राजकोट टेस्टः टीम इंडिया पर भारी पड़ सकते हैं इंग्लैंड के ये त्रिदेव

बेन स्टोक्स अपने गुस्से के लिए जाने जाते हैं

राजकोट टेस्टः टीम इंडिया पर भारी पड़ सकते हैं इंग्लैंड के ये त्रिदेव
राजकोट. भारत और इंग्लैंड के बीच 9 नवंबर से पांच टेस्ट मैचों की सीरीज शुरू हो रही है। माना जा रहा है कि यह टेस्ट सीरीज कप्तान विराट कोहली के लिए किसी अग्नि परीक्षा से कम साबित नहीं होने वाली है। इंग्लैंड टीम अपनी पिछली सीरीज बांग्लादेश में खेलकर आई है। खास बात ये है कि भारत और बांग्लादेश की पिचें एक समान होती हैं। ऐसे में इंग्लैंड टीम के ये तीन खिलाड़ी पड़ सकते हैं भारत पर भारी।
सबसे पहले भारतीय गेंदबाज को इंग्लैंड के कप्तान एलिस्टर कुक से सावधान रहने की जरुरत है। यदि इंग्लैंड के कप्तान एलिस्टर कुक भारत के खिलाफ चार साल पहले खेली गई टेस्ट सीरीज वाली फॉर्म में रहते हैं तो अंग्रेजों की स्थिति काफी मजबूत हो सकती है। कप्तान कुक ने भारत में खेली गई इस टेस्ट सीरीज में 562 रन बनाए थे, जिसमें तीन शतक भी शामिल था। उनकी कप्तानी में इंग्लैंड ने भारत को 28 सालों बाद उसी के घर में हराया था।
बांग्लादेश के खिलाफ हाल ही में खत्म हुए टेस्ट सीरीज में बेन स्टोक्स ने अपने बल्ले से इंग्लैंड के लिए मैच जिताउं पारी खेली थी। वहीं, इंग्लैंड की तरफ से इस सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज भी रहे। बेन स्टोक्स हालांकि अपने गुस्से के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने एक बार गुस्से में घूसा जड़कर अपनी कलाई तोड़ ली थी। इंग्लैंड की टीम स्टोक्स को पूरी सीरीज में खेलते देखना चाहेगी।
इंग्लैंड की टीम में बल्लेबाज की हैसियत से एंट्री पाने वाले मोइन अली अब इंग्लिस टीम के सबसे बेहतरीन स्पिनर बन चुके हैं और भारत के खिलाफ उनके स्पिन गेंदबाजी पर इंग्लैंड काफी हद तक निर्भर रहने वाला है। मोइन अली ने 2014 में इंग्लैंड के लिए समर सीजन में 19 विकेट हासिल कर चयनकर्ताओं का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया था।
हालांकि, उसके बाद से उन्होंने गेंद से कुछ खास कमाल नहीं दिखाया है और टीम में अपनी बल्लेबाजी के कारण ही खेल रहे हैं। उन्होंने बांग्लादेश के विरुद्ध दूसरे टेस्ट मैच में 57 रन देकर 5 विकेट हासिल किए थे और गेंद से फॉर्म में लौटने का संकेत दिया था। इस प्रदर्शन के बाद उन्होंने कहा था कि वो अपनी गेंदबाजी पर विशेष ध्यान दे रहे हैं और इंग्लैंड के लिए स्पिनर के तौर पर खेलना चाहते हैं। बल्लेबाजी क्रम में लगातार बदलाव किए जाने के कारण उनकी बैंटिंग पर असर पड़ा है, लेकिन उन्होंने समर सीजन में दो शतक ठोककर अपने फॉर्म में लौटने का संकेत दिया है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top