Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

क्रिकेट इतिहास की अनोखी घटना : पिता ने मारा शॉट और बेटा हुआ रनआउट

क्रिकेट के इतिहास में दो भाइयों की जोड़ी या जुड़वां भाइयों की जोड़ी को एक साथ खेलते आपने कई बार देखा होगा, लेकिन पिता पुत्र की जोड़ी को एक साथ खेलते देखना ये शायद ही कभी देखना नसीब होता है।

क्रिकेट इतिहास की अनोखी घटना : पिता ने मारा शॉट और बेटा हुआ रनआउट
X

क्रिकेट के इतिहास में दो भाइयों की जोड़ी या जुड़वां भाइयों की जोड़ी को एक साथ खेलते आपने कई बार देखा होगा, लेकिन पिता पुत्र की जोड़ी को एक साथ खेलते देखना ये शायद ही कभी देखना नसीब होता है। आज हम जिसकी बात करने जा रहे हैं वो हैं वेस्टइंडीज के पूर्व दिग्गज इंटरनेशनल क्रिकेटर 43 वर्षीय शिवनारायण चंद्रपॉल और उनके 21 साल के बेटे तेजनारायण चंद्रपॉल।

वैसे तो ये पिता पुत्र की जोड़ी काफी समय से गुयाना की तरफ से खेल रही है, लेकिन हाल ही में यह जोड़ी तब ज्यादा चर्चा में आई जब एक मैच के दौरान दोनों साथ खेलते नजर आए और उनमें से एक रनआउट हो गया। यह वाकया रीजनल सुपर 50 लिस्ट ए टूर्नामेंट में हुआ। गुरूवार को एंटीगुआ के कूलिज क्रिकेट ग्राउण्ड पर सुपर 50 कप का दूसरा सेमीफाइनल गुयाना और विंडवर्ड आइलैंड्स के बीच खेला गया था।

इसे भी पढ़े: जब 1 गेंद में बने 286 रन, गिनते-गिनते अंपायर भी थक गए थे

गुयाना ने विंडवर्ड आइलैंड्स ने टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 286 रन बनाए। इसके जवाब में गुयाना की ओर से पहला विकेट गिरने के बाद पिता पुत्र की जोड़ी बल्लेबाजी करने आई लेकिन पांचवे ही ओवर की चौथी गेंद पर तेजनारायण रन आउट हो गए। और पिता के सामने बेटे के रन आउट होने की यह अनोखी घटना इतिहास में दर्ज हो गई।

अनोखी घटना में पिता के सामने बेटा हुआ रन आउट

पांचवे ओवर की चौथी गेंद विंडवर्ड आइलैंड्स की ओर से आरडी जॉन गेंदबाजी कर रहे थे इस गेंद पर जब शिवनारायण ने स्ट्रेट ड्राइव मारा तो उस समय उनके बेटे तेज नारायण क्रीज से काफी आगे निकल चुके थे। फिर गेंद को सामने आते देख तेजनारायण वापस अपनी क्रीज की लौटे तब तक देर हो चुकी थी। बल्लेबाज के पहुंचने से पहले ही गेंद गेंदबाज के हाथों को छू कर नॉनस्ट्राइकर एंड वाले स्टंप्स पर लग गई और इस तरह से बेटा रन आउट हो गया।

इसे भी पढ़े: VIDEO: हर्शल गिब्स ने शराब के नशे में ठोक दिए 175 रन, उड़ा दी थीं ऑस्ट्रेलिया की धज्जियां

पिता पुत्र की यह दूसरी जोड़ी

प्रथम श्रेणी क्रिकेट इतिहास में पिता पुत्र की यह दूसरी जोड़ी है। 86 साल पहले 1931 में नॉटिंघमशायर की ओर से वॉरविकशायर के खिलाफ खेलते हुए जॉर्ज गन और वरनॉन गन ने शतक बनाए थे। उस मैच में 53 वर्षीय पिता जॉर्ज ने 183 और बेटे वरनॉन ने नाबाद 100 रन बनाए थे।

शिवनारायण और तेजनारायण तब सुर्खियों में आए थे

बता दें कि नवंबर 2015 में शिवनारायण और तेजनारायण तब सुर्खियों में आए थे, जब दोनों ने एक साथ गांधी यूथ ऑर्गनाइजेशन की तरफ से खेलते हुए ट्रांसपोर्ट स्पोर्ट्स क्लब के खिलाफ 40 ओवरों के एक मैच में 256 रनों की साझेदारी की थी। इस मैच में पिता शिवनारायण ने 143 और उनके बेटे तेजनारायण ने 112 रनों की शानदार पारी खेली थी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story