Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

प्रेग्नेंसी में पीठ दर्द और पैरों में सूजन जैसी छोटी-छोटी दिक्कतों से राहत दिलाएंगे ये तरीके

प्रेग्नेंसी का समय हर महिला के लिए खुशनुमा भी होता है और दर्दभरा भी होता है। खुशनुमा इसलिए क्योंकि वह मां बनने वाली होती है और उसे अपने बच्चे का बेसब्री से इंतजार रहता है। दर्दभरा इसलिए होता है क्योंकि प्रेग्नेंसी के दौरान महिला में कई तरह के हार्मोनल चेंजेस होते रहते हैं, जिसके कारण कई तरह की तकलीफें होती हैं।

प्रेग्नेंसी में पीठ दर्द और पैरों में सूजन जैसी छोटी-छोटी दिक्कतों से राहत दिलाएंगे ये तरीके

प्रेग्नेंसी का समय हर महिला के लिए खुशनुमा भी होता है और दर्दभरा भी होता है। खुशनुमा इसलिए क्योंकि वह मां बनने वाली होती है और उसे अपने बच्चे का बेसब्री से इंतजार रहता है। दर्दभरा इसलिए होता है क्योंकि प्रेग्नेंसी के दौरान महिला में कई तरह के हार्मोनल चेंजेस होते रहते हैं, जिसके कारण कई तरह की तकलीफें होती हैं।

गर्भवती महिलाओं को हर दिन छोटी-छोटी दिक्कतें जैसे पीठ दर्द, कमर दर्द, जी मिचलाना, पैरों में सूजन, खून में कमी आदि होती रहती है।

ऐसे में हम आपको कुछ ऐसे तरीकों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें अपनाकर आप इन दिक्कतों से राहत पा सकती हैं। जानें क्या-

यह भी पढ़ें: बड़ा खुलासा! तो इसलिए बचपन में जोर-जोर से पढ़ने के लिए कहा जाता है

खून की कमी

प्रेग्नेंसी में ज्यादातर गर्भवती महिलाओं में खून की कमी हो जाती है। यह एक आम बात है लेकिन इसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि मां के ब्लड से ही बच्चे को पोषण मिलता है। शरीर में खून की कमी न हो इसके लिए आप अपनी डाइट में पालक, ककड़ी, प्याज, खीरा, अण्डा, चोकर के आटे की रोटी, सलाद, दही वगैरह शामिल करें। इन चीजों को खाने से मां और बच्चे दोनों को पर्याप्त पोषण मिलता है।

जी मिचलाना

मॉर्निंग सिकनेस के दौरान गर्भवती महिला को जी मिचलाने की समस्या होती है। इससे बचने के लिए गर्भवती महिला को ज्यादा से ज्यादा ठंडी चीजों का सेवन करना चाहिए। साथ ही सुबह भुने चने, बिस्किट, सौंफ आदि खाने से भी इस दिक्कत में राहत मिलती है। नींबू पानी, आम का पना, इमली की चटनी भी फायदेमंद होती है। ध्यान रखें कि गर्म तासीर वाली चीजें बिल्कुल न खाएं।

कब्ज

ज्यादातर गर्भवती महिलाओं को प्रेग्नेंसी में कब्ज की समस्या होती है। इससे बचने के लिए उन चीजों का सेवन करें जिनमें फाइबर पाए जाते हैं। इसके अलावा एक गिलास नींबू पानी में थोड़ा शहद मिलाकर पीने से भी आराम मिलेगा।

यह भी पढ़ें: सावधान! नशे की लत लगने पर शरीर में होते हैं ये बदलाव, ऐसे करें पहचान

सीने में जलन

अगर किसी गर्भवती महिला को सीने में जलन की समस्या होती है तो वह नींबू पर थोड़ा सा काला नमक लगाकर चाट ले तो आराम मिल जाएगा।

पैरों में सूजन

गर्भवती महिलाओं को पैरों में सूजन की भी समस्या होती है। इससे बचने के लिए पैरों को थोड़ा ऊंची जगह पर रखें। साथ ही पैरों को 10 मिनट तक ठंडे पानी में डालकर रखने से आराम मिलता है। इसके अलावा आप सरसों के तेल से मालिश भी कर सकती हैं।

पीठ में दर्द

गर्भावस्था में पीठ दर्द की भी समस्या होना आम है। इस स्थिति में पीठ की हल्की मालिश से आराम पाया जा सकता है।

Next Story
Share it
Top