Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सोशल मीडिया के कारण बढ़ रही रेप और स्कूल में हत्या जैसी वारदातें!

सोशल मीडिया का प्रभाव वास्तविक जीवन में बढता जा रहा है और इसके कारण ऑफलाइन होने पर और झगड़े होते है तथा स्कूलों में समस्याएं सामने आती है।

सोशल मीडिया के कारण बढ़ रही रेप और स्कूल में हत्या जैसी वारदातें!
X

एक अध्ययन के अनुसार सोशल मीडिया किशोरों के वास्तविक जीवन और उनके संबंधों को प्रभावित कर सकता हैं। अमेरिका में केलिफोर्निया विश्वविद्यालय, इरविन के शोधकर्ताओं के अनुसार सोशल मीडिया से किशोरों का जीवन प्रभावित होने की आशंका है।

जर्नल नेचर में यह शोध प्रकाशित हुआ है। प्रोफेसर कैंडिस ओडगर्स ने विभिन्न मौजूदा अध्ययनों के आकडों का विश्लेषण किया। ओडगर्स ने कहा, ‘‘प्रमाणों से अब तक यह पता चला है कि स्मार्टफोन पहले से ही किशोरों की समस्याओं को दर्शाते दर्पण के रूप में काम कर सकते हैं।'

यह भी पढ़ें: माता-पिता भूलकर भी बच्चों के सामने न करें ये एक काम

उन्होंने कहा, ‘‘निम्न आय वर्ग के परिवारों का कहना है कि सोशल मीडिया का प्रभाव वास्तविक जीवन में बढता जा रहा है और इसके कारण ऑफलाइन होने पर और झगड़े होते है तथा स्कूलों में समस्याएं सामने आती है।'

शोधकर्ताओं का कहना है कि ओडगर्स द्वारा अन्य अध्ययनों की समीक्षा की गई जिनसे पता चलता है कि आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के किशोरों के लिए सोशल मीडिया से जुड़ी समस्याओं से निपटने में अभिभावकों, स्कूलों या अन्य सामाजिक संगठनों से अतिरिक्त समर्थन की जरूरत है।

इनपुट- भाषा

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

और पढ़ें
Next Story