Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Women Health: जरूरी नहीं ब्रेस्ट में होने वाला हर दर्द कैंसर हो, हो सकती हैं ये खतरनाक बीमारी

Women Health: अगर आपके ब्रेस्ट में लंप्स या गांठ जैसी दिक्त हो रही है तो इसे बिल्कुल भी अनदेखा न करें। क्योंकि ब्रेस्ट कैंसर के अलावा भी कई ऐसी खतरनाक बीमारियां हैं जो हो सकती हैं। तो चलिए जानते हैं ऐसी कौन सी सिच्यूएशन हैं जिसमें ब्रेस्ट में दर्द होता है और बीमारी का कारण बनता है।

Women Health: जरूरी नहीं ब्रेस्ट में होने वाला हर दर्द कैंसर हो, हो सकती हैं ये खतरनाक बीमारी
X

Women Health: शरीर के किसी भी हिस्से में हो रहे दर्द को अनदेखा नहीं करना चाहिए। नहीं तो यही छोटा दर्द कब बड़ी बीमारी बन जाए कुछ कहा नहीं जा सकता है। वहीं अक्सर देखा जाता है कि महिलाएं ब्रेस्ट में होने वाले दर्द को काफी इग्नोर करती हैं। जो आगे चलकर भयानक बीमारी का रूप ले लेता है। इसके साथ ही हम आपको बताना चाहेंगे कि अगर आपके ब्रेस्ट में काफी दिनों से दर्द हो रहा है तो ऐसे में आपको बिल्कुल भी देर न करते हुए तुरंत गायनाकॉलोजिस्ट के पास जाना चाहिए। इसी बीच हम आपको बताना चाहेंगे कि अगर आपके ब्रेस्ट में लंप्स या गांठ जैसी दिक्त हो रही है तो इसे बिल्कुल भी अनदेखा न करें। क्योंकि ब्रेस्ट कैंसर के अलावा भी कई ऐसी खतरनाक बीमारियां हैं जो हो सकती हैं। तो चलिए जानते हैं ऐसी कौन सी सिच्यूएशन हैं जिसमें ब्रेस्ट में दर्द होता है और बीमारी का कारण बनता है।

टैटू

कई बार लोग फैशन को इतना ज्यादा आगे रखते हैं कि वो अपनी जिंदगी से भी खिलवाड़ करने लगते हैं। ऐसे में इसका एक उदाहरण टैटू भी है। टैटू का ट्रेंड इतनी जोर शोर से चल रहा है कि लोग इसे बनवाने में पीछे नहीं है। आपकी जानकारी के लिए बताना चाहेंगे कि टैटू बनाने के लिए इस्तेमाल होने वाली स्याही यानि इन्क (Ink) में टॉक्सिक एलिमेंट पाया जाता है। जिससे स्किन कैंसर होने का खतरा होता है। वहीं इससे कई बार HIV, हेपाटाइटिस बी और सी से संक्रमित हो जाते हैं।

सिस्ट

कई बार मामूली सिस्ट भी ब्रेस्ट में दर्द की वजह बन जाती है। यह सिस्ट कैंसरकारी नहीं होती लेकिन यह फ्लूइड से भरे होते हैं। जो पीरियड्स (Periods) के टाइम में सूज जाते हैं और इस वजह से भी ब्रेस्ट में दर्द होने लगता है। अगर यह समस्या ज्यादा करे तो डॉक्टर के पास जाने में ही समझदारी है।

इंफेक्शन

कई बार पसीना निकलने की वजह से ग्लैंड बंद हो जाते हैं, जिससे इंफेक्शन होने का डर रहता है और आगे जाकर यह परेशानी बढ़ जाती है।



Shagufta Khanam

Shagufta Khanam

Jr. Sub Editor


Next Story