Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Mental Disorder: कहीं आप तो नहीं हैं ओसीडी की दिक्कत का शिकार, विद्या बालन को भी हुई थी ये बीमारी

साल 2019 के आखिरी महीने में खबर आई थी कि विद्या बालन को ओसीडी (Obsessive Compulsive Disorder) की दिक्कत हो गई है। जिसका वो इलाज भी करवा रही हैं। आपको बता दें कि ओसीडी (Obsessive Compulsive Disorder) एत मानसिक बीमारी है। यह किसी भी शख्स को हो सकती है। इसी बीच आज हम आपको इस बीमारी से जुड़ी तमाम जानकारी देने जा रहे हैं। तो आइए जानते हैं ओसीडी (Obsessive Compulsive Disorder)।

कहीं आप तो नहीं हैं ओसीडी की दिक्कत का शिकार, विद्या बालन को भी हुई थी ये बीमारी
X
विद्या बालन को भी हुई थी ओसीडी का शिकार (फाइल फोटो)

कई बार हम किसी व्यक्ति की हरकतों को देखकर उसे सनकी बुलाते हैं या फिर उसका मजाक बनाते हैं। लेकिन कभी इस बात को समझने की कोशिश नहीं करते हैं कि वो शख्स किसी मानसिक समस्या से जूझ रहा है। उसे हमारे सपोर्ट के साथ सही इलाज की जरूरत है। ऐसी ही एक समस्या है ओसीडी (Obsessive Compulsive Disorder)।

विद्या बालन को भी हुई थी ओसीडी (Obsessive Compulsive Disorder) की दिक्कत

साल 2019 के आखिरी महीने में खबर आई थी कि विद्या बालन को ओसीडी (Obsessive Compulsive Disorder) की दिक्कत हो गई है। जिसका वो इलाज भी करवा रही हैं। आपको बता दें कि ओसीडी (Obsessive Compulsive Disorder) एत मानसिक बीमारी है। यह किसी भी शख्स को हो सकती है। इसी बीच आज हम आपको इस बीमारी से जुड़ी तमाम जानकारी देने जा रहे हैं। तो आइए जानते हैं ओसीडी (Obsessive Compulsive Disorder)।

क्या हैं ओसीडी (Obsessive Compulsive Disorder) के लक्षण

- इस बीमारी का शिकार शख्स एक ही काम को बार बार करता है। उसे याद ही नहीं रहता है कि उसने काम किया या नहीं। जिसके चलते वो उस काम को बार बार करने लगता है। जैसे सफाई की आदत। बार बार चीजों को साफ करते रहना। जब तक शख्स को सेटिसफेक्शन न हो जाए वो सफाई करता रहता है। कई बार तो इंसान नहाने में ही काफी समय लगा देता है। शरीर पर बार बार साबुन लगाते रहना।

- ओसीडी (Obsessive Compulsive Disorder) से शिकार हुआ शख्स कई बार पैसों को भी बार बार गिनने लगते हैं।

- लॉक लगाने के बाद मन में वहम आता है कि ताला ठीक से लगाया या नहीं फिर बार बार ताले को चेक करना या फिर ताले को खोलकर फिर से लगाना।

इस बीमारी के चलते इंसान काफी तनाव में रहने लगता है क्योंकि उन्हें हर काम को करने में काफी समय लगता है। वहीं कई बार इसका असर उनके रिश्तों और पर्सनल लाइफ पर भी पड़ता है।

Also Read: Tick Borne : चीन में आया एक और नया वायरस, कई लोगों की गई जान

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस बीमारी का इलाज मुमकिन है। ऐसे में आपको बिल्कुल भी घबराने की जरूरत नहीं है। इसके लिए आपको एक अच्छे सायकेट्रिस्ट की आवश्यकता है। वहीं अगर आपको भी कुछ इस तरह की दिक्कत हो रही है तो आप भी बिना लापरवाही करें डॉक्टर से जरूर मिलें।

Shagufta Khanam

Shagufta Khanam

Jr. Sub Editor


Next Story