Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Coronavirus: बिल्कुल भी घबराएं नहीं बाकी वायरस जैसे ही है कोरोना वायरस, इस डॉक्टर ने किया दावा

Coronavirus: कोरोना कई देशों के बाद भारत में भी दस्तक दे चुका है। वहीं लोग इसके चलते काफी घबराए हुए हैं। भारत में अब कर 41 लोग इस वायरस का शिकार हो चुके हैं।

डॉक्टर को कोरोना वायरस से बचाने के लिए आगे आया दोस्त, ये चीजें की गिफ्ट
X
कोरोना वायरस (फाइल फोटो)

Coronavirus: पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का कोहराम देखने को मिल रहा है। वहीं इसका कहर भारत में भी देखने को मिल रहा है। भारत में अब तक 41 लोग इस वायरस का शिकार हो चुके हैं। कोरोना वायरस की दहशत लोगों में काफी बैठ चुकी है। जिस वजह से लोगों ने अपने घर से बाहर निकलना भी कम कर दिया है। इसी बीच मेडस्केप इंडिया की प्रमुख और आर्यन हॉस्पिटल एंड मेडिकल सेंटर की डीन डॉक्टर सुनीता दुबे का कहना है कि लोग इस कोरोना वायरस से बिल्कुल भी घबराए नहीं। ये बाकी वायरस के जैसा ही है।

इससे पहले भी कई वायरस कोहराम मचा चुके हैं

डॉक्टर ने बताया कि इससे पहले भी कई वायरस कोहराम मचा चुके हैं और कोई भी वायरस बस एक समय तक ही रहता है। सीमा खत्म होने के बाद वायरस का असर भी धीरे धीरे खत्म हो जाता है। वहीं डॉक्टर ने बताया कि किसी भी वायरस का हौआ नहीं बनाना चाहिए। इसे भी आम बीमारियों की तरह ही लेना चाहिए।

सीफूड को न खाएं

इसके साथ ही सलाह देते हुए डॉक्टर ने कहा कोरोना से आसानी से बचा जा सकता है। बस इससे बचने के लिए आप कुछ दिन के लिए सीफूड को न खाएं और अपने आस पास सफाई का खास ध्यान रखें। संक्रमित लोगों से दूरी बना कर रखें।

ये हैं लक्षण

डॉक्टर का कहना है कि लोग घबराहट की वजह से लोग बुखार और खांसी जैसे मामलों में भी कोरोना का संदेह कर रहे हैं। लेकिन अगर आपको गला सूखना, नींद न आना, गला सूखना, आंखों में चुभन जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। तो ऐसे में बिल्कुल भी लापरवाही न करें और तुरंत डॉक्टर के पास जाएं। इसके लिए आप पास के किसी भी अस्पताल में अपना चेकअप करवा सकते हैं।

डॉक्टर ने इस वायरस को लेकर लोगों में दहशत की वजह सही जानकारी न होना बताई है। उनका कहना है कि पहले तो लोगों को इस वायरस को लेकर सही जानकारी देनी चाहिए। जिससे लोग बिल्कुल भी न घबराएं। डॉक्टर ने बताया कि वायरस कैसे फैलता है।

ऐसे फैलता है वायरस

-हवा के जरिए नहीं फैलता है।

-सांस के ड्रॉपलेट्स के जरिए फैलता है।

-संक्रमित मरीज के मुंह में हाथ रखकर न छींकने से।

-संक्रमित मरीज के शरीर के थूक के जरिए फैलता है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह वायरस श्वास नली के अपर रेस्परेटरी हिस्से में विकसित होता है। यह वायरस 15 से 20 दिन तक मानव शरीर में सुप्तावस्था में रह सकता है।

Shagufta Khanam

Shagufta Khanam

Jr. Sub Editor


Next Story