Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Skin Care: आप भी अपनी त्वचा पर लाना चाहती हैं नेचुरल निखार तो अपनाइए ये रूटीन, जानें क्या है सही प्रोसेस

स्किन फास्टिंग (Skin Fasting) इस समय बहुत ज्यादा ट्रेंड में है और लोग इसे अपना रहे हैं। यह स्किन केयर (Skin Care) के एक रूटीन की तरह है जिसमें बाजार में मिलने वाले हानिकारक प्रोडक्ट्स (Harmful Beauty Products) को इस्तेमाल ना करने की सलाह दी जाती है।

Skin Care: आप भी अपनी त्वचा पर लाना चाहती हैं नेचुरल निखार तो अपनाइए ये रूटीन, जानें क्या है सही प्रोसेस
X

आजकल हर कोई अपनी स्किन को खूबसूरत, ग्लोइंग और हेल्दी बनाना चाहता है, इसके लिए लोग तरह-तरह के महंगे प्रोडक्ट्स और कई तरह के होम रेमिडीज (Home Remedies) का इस्तेमाल करते हैं। इसके साथ ही वह बहुत ही स्ट्रिक्ट डाइट प्लान (Strict Diet Plan) को भी फॉलो करते हैं, मार्किट में स्किन केयर प्रोडक्ट्स (Skin care Products) की भरमार है। स्किन रूटीन (Skin Routine) से जुड़े एक से बढ़कर एक महंगे प्रोडक्ट आपको बहुत ही आसानी से मिल जाएंगे। लेकिन इन प्रोडक्ट्स को बनाते वक्त बहुत से हार्मफुल केमिकल्स का भी इस्तेमाल किया जाता है। प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनी चाहे कितने ही साइड इफ़ेक्ट फ्री होने के दावे क्यों ना कर लें, लेकिन इन केमिकल्स के कारण किसी न किसी व्यक्ति की स्किन पर कोई बुरा प्रभाव पड़ता ही है।

जानिए क्या है स्किन फास्टिंग की प्रक्रिया

लेकिन स्किन केयर के लिए आप इन केमिकल वाले प्रोडक्ट्स की जगह नेचुरल तरीके भी अपना सकते हैं। इन्हीं नेचुरल तरीकों में से एक है स्किन फास्टिंग, अब आप सोच रहे होंगे यह स्किन फास्टिंग (Skin Fasting) होती क्या चीज है। बता दें कि स्किन फास्टिंग इस समय बहुत ज्यादा ट्रेंड में है और लोग इसे अपना रहे हैं। यह स्किन केयर के एक रूटीन की तरह है जिसमें बाजार में मिलने वाले हानिकारक प्रोडक्ट्स को इस्तेमाल ना करने की सलाह दी जाती है। क्योंकि यह एक नेचुरल प्रोसेस है इसलिए स्किन फास्टिंग के कोई साइड इफेक्ट्स नहीं हैं। उदाहरण के लिए स्किन को मॉइस्चराइज करने के लिए आप कोकोनट आयल का इस्तेमाल कीजिए।

प्रोडक्ट्स की जगह स्किन केयर के लिए अपनाएं घरेलू नुस्खे

जब आप स्किन फास्टिंग की इस प्रोसेस को अपने डेली रूटीन का हिस्सा बनाते हैं, तो स्किन में नेचुरली सुधार होने लगता है। इस प्रक्रिया में सबसे अहम बात यही है कि आप केमिकल वाले प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल न करें, लेकिन घरेलू नुस्खों के जरिए स्किन केयर रूटीन को फॉलो करना भी बिल्कुल न भूलें। ये तरीका स्किन को अंदर से रिपेयर करता है और यहीं डिटॉक्सिफाइंग भी कहलाता है।

ऐसे अपनाएं स्किन फास्टिंग की यह प्रक्रिया

स्किन को डिटॉक्स (Skin Detox) करने में पानी भी अहम भूमिका निभाता है, स्किन फास्टिंग जैसी ट्रेंडिंग प्रक्रियाओं में ज्यादा से ज्यादा पानी पीने की सलाह दी जाती है। पानी पीना आपकी सेहत के लिए और भी कई मायनों में बहुत अच्छा माना जाता है। किसी भी स्किन केयर रूटीन को फॉलो करने में जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए, स्किन फास्टिंग में सलाह दी जाती है कि इसे धीरे-धीरे फॉलो करना चाहिए। बाजार के महंगे प्रोडक्ट्स का यूज जरूर बंद करें, लेकिन यह प्रक्रिया भी धीरे-धीरे पूरी होनी चाहिए।

और पढ़ें
Next Story