Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

दिव्येंदु शर्मा इंटरव्यू : आपका करियर बहुत धीमी गति से आगे बढ़ रहा है?

दिव्येंदु शर्मा इन दिनों वेब सीरीज में अलग-अलग तरह के किरदारों में नजर आ रहे हैं। उनका वेब सीरीज ‘मिर्जापुर’ में गुंडे मुन्ना भाई का किरदार काफी चर्चा में रहा था। हाल ही में वह एक वेब फिल्म ‘बदनाम गली’ में भी नजर आए। इस वेब सीरीज में उन्होंने काफी बोल्ड सीन दिए, इन्हें करने में दिव्येंदु कितने सहज रहे? वह अपने करियर से कितना संतुष्ट हैं? बातचीत दिव्येंदु शर्मा से।

दिव्येंदु शर्मा इंटरव्यू : आपका करियर बहुत धीमी गति से आगे बढ़ रहा है?

थिएटर से बॉलीवुड में आए दिव्येंदु शर्मा का करियर धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा है। वह अब तक चुनिंदा फिल्मों 'प्यार का पंचनामा', 'चश्मेबद्दूर', 'इक्कीस तोपों की सलामी', 'टॉयलेट एक प्रेमकथा' और 'बत्ती गुल मीटर चालू' में नजर आए। लेकिन हर फिल्म में उनका किरदार अलग और दमदार रहा। दर्शकों के जेहन में उनके ज्यादातर किरदार बस गए हैं। खुद दिव्येंदु को भी तेजी से आगे बढ़ने में यकीन नहीं है, वह आराम से करियर बनाना चाहते हैं। बातचीत दिव्येंदु शर्मा से।

आपका करियर बहुत धीमी गति से आगे बढ़ रहा है?

मुझे कहीं भी पहुंचने की कोई जल्दी नहीं है। मैं बेहतरीन रचनात्मक, मन को संतुष्टि देने वाला काम करते हुए धीरे-धीरे आगे बढ़ना चाहता हूं। मुझे कलाकार के तौर पर पहचान बनानी है। मुझे पता है कि मुझे किस तरह का काम करने में आनंद आएगा, वही काम करता हूं। मैंने अब तक 'प्यार का पंचनामा', 'चश्मेबद्दूर', 'इक्कीस तोपों की सलामी', 'टॉयलेट एक प्रेमकथा', 'बत्ती गुल मीटर चालू' जैसी फिल्में की हैं। कुछ फिल्में सफल हुईं और कुछ असफल। लेकिन हर फिल्म में मेरे काम को सराहा गया। अब तक मेरी कोशिश रही है कि मैं अपनी हर फिल्म में दर्शकों को कुछ नया दूं। मुझे लगता है कि मैं इसमें कामयाब रहा हूं। मैंने फिल्म 'प्यार का पंचनामा' में कॉमिक रोल निभाया था। वहीं 'इक्कीस तोपों की सलामी' में मैंने इमोशनल हीरो का किरदार निभाया था। जबकि फिल्म 'बत्ती गुल मीटर चालू' में एक संजीदा किरदार निभाया। वेब सीरीज 'मिर्जापुर' में मैंने बोल्ड, न्यूड सीन भी किए। अब एक बार फिर मैंने वेब फिल्म 'बदनाम गली' में कॉमिक रोल निभाया है।

वेब फिल्म 'बदनाम गली' को लेकर क्या कहेंगे?

यह सरोगेट मदर के बैकड्रॉप पर दो दोस्तों और उनकी दोस्ती की कहानी है। इसमें एक कुंवारी लड़की नवोनिका है, जो कि सरोगेटेड मदर बन रही है। नवोनिका से एक लड़का मिलता है, उनके बीच दोस्ती हो जाती है। फिर वह दोस्ती किस तरह से आगे बढ़ती है, क्या-क्या होता है, यह इस फिल्म की कहानी है।

आपका इसमें किस तरह का किरदार है?

मैंने इसमें एक पंजाबी लड़के रणदीप सिंह सोढ़ी का किरदार निभाया है। उसे कार का शौक है। कुछ वजहों से वह अपने परिवार के साथ तालमेल नहीं बैठा पाता, इसलिए पंजाब छोड़कर दिल्ली पहुंचता है। जहां उसकी मुलाकात सरोगेटेड मदर नवोनिका से होती है। कुछ लोगों ने उसको लेकर अपनी एक राय बना रखी है। लेकिन मेरा किरदार उसके साथ खड़ा नजर आता है। नवोनिका से अपनी दोस्ती को निभाने के लिए उसे काफी कुछ झेलना पड़ता है।

वेब सीरीज 'मिर्जापुर' में जिस तरह से अभिनय किया है। उससे लगता है कि आपको बोल्ड या न्यूड सीन करने से भी कोई परहेज नहीं रहा?

अगर कहानी की मांग है तो इस तरह के सीन करने से मुझे कोई परहेज नहीं है। मुझे पता है कि वेब सीरीज 'मिर्जापुर' में कुछ असभ्य शब्द भी थे लेकिन वह कहानी और किरदार की मांग के थे। मिर्जापुर और बनारस के इलाके में जिस तरह की भाषा लोग रोज बोलते हैं, वह सब हमारी सीरीज में था। वैसे भी मैं थिएटर का कलाकार हूं, हमें किरदार के साथ न्याय करने के लिए अपने कपड़े उतारने या लव मेकिंग सीन करने से भी कभी हिचक नहीं होती है। हमें थिएटर में ट्रेनिंग दी गई है कि कपड़े बहुत मायने नहीं रखते। आपकी सोच और आपका काम मायने रखता है।

तो क्या आप किसी भी फिल्म या वेब शो में बोल्ड सीन कर लेंगे?

जी नहीं। अगर मुझे इस तरह के सीन करने हैं तो कहानी में उसकी वजह होनी चाहिए।

क्या कोई फिल्म भी कर रहे हैं?

एक फिल्म 'कनपुरिया' की है। जिसमें कानपुर के तीन दोस्तों की कहानी है। इस फिल्म के बारे में जल्द ही बातचीत करूंगा।

लेखक- निकिता त्रिपाठी

Share it
Top