Logo
दिल्ली के कई इलाकों में पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है। अब दिल्ली में दिन में सिर्फ एक बार ही पानी की सप्लाई की जाएगी। इसके अलावा पानी की बर्बादी करने वालों के खिलाफ जुर्माना किया जाएगा।

Delhi Water Crisis: राजधानी दिल्ली में बढ़ती गर्मी के साथ ही अब पानी का संकट भी मंडराने लगा है। दिल्ली के कई इलाकों में पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है। भीषण गर्मी से घरों के नल भी सूखे पड़े हैं। लोगों को पीने के पानी के लिए बहुत परेशानी का सामना करना पड़ा रहा है। पानी की समस्या को ध्यान में रखते हुए दिल्ली सरकार ने पानी की सप्लाई दिन में एक बार करने का फैसला लिया है। इसके अलावा सरकार ने पानी की बर्बादी करने वालों के खिलाफ भी जुर्माना लगाने को कहा है।

दिल्ली में एक टाइम होगी पानी की सप्लाई

दिल्ली सरकार में जल मंत्री आतिशी ने कहा कि जहां दो टाइम पानी मिलता था, अब वहां एक ही टाइम पानी की सप्लाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि पिछले हफ्ते से दिल्ली के कई इलाके पानी की किल्लत से जूझ रहे हैं। इसके लिए हमें कई कदम उठाने होंगे। इसके अलावा उन्होंने दिल्ली के लोगों से पानी की बर्बादी नहीं करने की अपील भी की है। ऐसे में चालान काटने पर भी विचार किया जा सकता है।

हरियाणा से नहीं छोड़ा जा रहा दिल्ली के हिस्से का पानी

दिल्ली की जल मंत्री ने दावा किया कि हरियाणा ने दिल्ली के हिस्से का पानी छोड़ना बंद कर दिया है। दिल्ली की पानी सप्लाई पूरी तरह से यमुना नदी पर निर्भर है। हरियाणा से पानी नहीं छोड़े जाने के चलते यमुना का स्तर दिल्ली में गिरता जा रहा है।

आतिशी ने दावा किया कि इस साल एक मई से हरियाणा ने दिल्ली के हिस्से का पानी देना बंद कर दिया है। उन्होंने बताया कि दिल्ली में यमुना नदी का स्तर 669.8 फीट तक पहुंच गया है। ऐसे में दिल्ली वालों को पानी की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। दिल्ली के पानी की बेहतर सप्लाई के लिए बोरवेल को 6 घंटे से बढ़ाकर 14 घंटे चलाया जा रहा है और पानी टैंकर की सप्लाई भी बढ़ाई गई है।

jindal steel hbm ad
5379487