Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

''कुश्ती'' में भारत को पदक दिलाने वाली पहली भारतीय महिला बनीं ''साक्षी''

तीसरे मिनट के अंतिम क्षण में एक और शानदार मूव के जरिये साक्षी ने दो प्‍वाइंट बनाए

कुश्ती में भारत को पदक दिलाने वाली पहली भारतीय महिला बनीं साक्षी
X
रियो डि जनेरियो. साक्षी मलिक ने रियो ओलिंपिक में 58 किग्रा भार वर्ग फ्रीस्टाइल कुश्‍ती में कांस्‍य पदक हासिल कर इतिहास रच दिया है। इसी के साथ रियो ओलिंपिक में भारत के लिए पदक जीतने वाली पहली भारतीय भी बन गई हैं। उन्‍होंने कांस्‍य पदक के लिए प्‍ले ऑफ मुकाबले में जुझारू प्रदर्शन करते हुए किर्गिस्‍तान की पहलवान एसुलू तिनिवेकोवा को हराकर पदक जीता। साक्षी की जीत के साथ ही रियो ओलिंपिक में भारतीय खेमें में 11 दिनों से जारी मेडल का इंतजार भी खत्‍म हुआ और साथ ही साक्षी ओलिंपिक में कांस्‍य जीतने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान बनीं।

ओलिंपिक पदक जीतने वाली चौथी भारतीय महिला एथलीट इस जीत के साथ ही साक्षी ओलिंपिक मेडल हासिल करने वाली चौथी भारतीय महिला एथलीट हो गई हैं। इससे पहले कर्णम मल्‍लेश्‍वरी, मैरी कॉम और साइना नेहवाल ने ओलिंपिक में मेडल हासिल किए हैं. साक्षी की जीत के साथ ही रियो ओलिंपिक में भारतीय खेम में 11 दिनों से जारी मेडल का इंतजार भी खत्‍म हुआ।

कांटे की टक्कर

इस मैच के पहले पीरियड में वह किर्गिस्‍तान की पहलवान एसुलू तिनिवेकोवा से 0-5 से पिछड़ गईं. दूसरे पीरियड में शुरुआत में पिछड़ने के बाद साक्षी ने जबर्दस्‍त वापसी की और 8-5 से दूसरा सेट जीतकर कांस्‍य पदक जीतने में कामयाब हुईं और भारत की झोली में पदक डाला।

तीसरे मिनट के अंतिम क्षण में एक और शानदार मूव के जरिये साक्षी ने दो प्‍वाइंट बनाए और मैच समाप्‍त होने पर 7-5 से जीत हासिल की लेकिन किर्गिस्‍तान के कोचिंग स्‍टाफ ने उस अंतिम मूव पर आपत्ति जताते हुए समीक्षा की अपील की। जजों ने रीप्‍ले देखने के बाद फैसला साक्षी के हक में दिया और विरोधी की विफल समीक्षा के चलते एक अतिरिक्‍त प्‍वाइंट साक्षी को दिया।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story