Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ये हैं भारतीय क्रिकेटर्स के करियर से जुड़े कुछ ऐसे रोचक तथ्य जिनसे आप आजतक होंगे अंजान

भारत में क्रिकेट को धर्म माना जाता है। इसलिए तो महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर को क्रिकेट का भगवान कहा जाता है। आधुनिक समय में क्रिकेट की दुनिया में एक से बढ़कर एक धुंरधर क्रिकेटर आ रहे हैं जिसकी वजह से पहले के मुकाबले अब कई रिकॉर्ड टूट रहे है और बन रहे है।

ये हैं भारतीय क्रिकेटर्स के करियर से जुड़े कुछ ऐसे रोचक तथ्य जिनसे आप आजतक होंगे अंजान
X

भारत में क्रिकेट को धर्म माना जाता है। इसलिए तो महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर को क्रिकेट का भगवान कहा जाता है। आधुनिक समय में क्रिकेट की दुनिया में एक से बढ़कर एक धुंरधर क्रिकेटर आ रहे हैं जिसकी वजह से पहले के मुकाबले अब कई रिकॉर्ड टूट रहे है और बन रहे है। आज हम आपको भारतीय क्रिकेटर्स के बारे में कुछ ऐसे रोचक तथ्य बताने जा रहे हैं जिनसे आप शायद आजतक अंजान होंगे।

1. अपने पूरे रणजी करियर में सचिन तेंदुलकर सिर्फ एक बार शून्य पर आउट हुए है

क्रिकेट के महानतम बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर अपने रणजी करियर के दौरान सिर्फ एक बार जीरो पर आउट हुए हैं। 12 जनवरी 2009 को हैदराबाद में खेले गए एक मैच में भारतीय तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने सचिन को जीरो पर आउट किया था। ऐसा पहली और आखिरी बार हुआ था जब रणजी ट्रॉफी में सचिन जीरो पर आउट हुए थे।

2. सौरव गांगुली के नाम है वनडे क्रिकेट में लगातार सबसे ज्यादा मैन ऑफ द मैच जीतने का रिकॉर्ड

भारत के सबसे सफलतम कप्तानों में से एक पूर्व दिग्गज बल्लेबाज सौरव गांगुली ने वनडे क्रिकेट में लगातार सबसे ज्यादा मैन ऑफ द मैच खिताब जीतने का रिकॉर्ड बनाया है। 1997 में खेले गए सहारा कप के दौरान सौरव गांगुली ने लगातार 4 मैचों में मैन ऑफ द मैच खिताब जीतकर यह रिकॉर्ड अपने नाम किया था।

सहारा कप के दूसरे मैच में सौरव गांगुली ने 32 रन बनाने के साथ ही 2 विकेट लिये, तीसरे मैच में उन्होंने 5 विकेट झटके थे और चौथे मैच में 75 रन बनाने के साथ 2 विकेट लिए थे। आखिरी मैच में उन्होंने 96 रन बनाने के अलावे 2 विकेट लिए थे।

3.वीरेंद्र सहवाग का क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में सर्वोच्च स्कोर है 119, 219 और 319

पूर्व विस्फोटक भारतीय बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट वनडे,टी-20,टेस्ट का सर्वोच्च स्कोर है 119, 219 और 319 रन रहा है।

टेस्ट: साल 2008 में चेन्नई में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वीरेंद्र सहवाग ने नाबाद 319 रनों की पारी खेली थी जो उनका ही नहीं किसी भी भारतीय बल्लेबाज का टेस्ट क्रिकेट का सर्वोच्च स्कोर है। इस पारी के दौरान सहवाग ने 278 गेंदों में तिहरा शतक लगाकर टेस्ट क्रिकेट इतिहास का सबसे तेज तिहरा शतक भी लगाया है।

वनडे: इंदौर के होल्‍कर स्‍टेडियम में 8 दिसंबर 2011 को वेस्टइंडीज के खिलाफ वीरेंद्र सहवाग ने 149 गेंदों में 25 चौकों और सात छक्‍के की मदद से 219 रन बनाए थे।

टी-20: आईपीएल के दौरान साल 2011 में वीरेंद्र सहवाग ने दिल्ली डेयरडेविल्स की ओर से खेलते हुए डेक्कन चार्जर्स के खिलाफ 13 चौके और 6 छक्के की मदद से 119 रन बनाए थे।

4. भारत के खिलाफ विश्व के बल्लेबाजों द्वारा बनाए गए टॉप 3 बेस्ट स्कोर में गेंदबाज ईशांत शर्मा की रही है अहम भूमिका

साल 2011 में भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में एलेस्टर कुक ने 294 रनों की शानदार पारी खेली थी। इस मैच में ईशांत ने एलेस्टर कुक का कैच छोड़ा था। इस मैच में ईशांत ने पहली पारी में 37.1 ओवर में 159 रन दिए थे।

साल 2012 में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी में खेले गए टेस्ट मैच में माइकल क्लार्क ने नाबाद 329 रनों की पारी खेली थी। इस मैच में भी ईशांत ने माइकल क्लार्क का कैच छोड़ा था। इस मैच में ईशांत शर्मा ने 33 ओवर में 144 रन दिए थे।

5.भारतीय स्पिनर बापू नाडकर्णी ने बनाया है टेस्ट में सर्वाधिक लगातार मेडन ओवर डालने का रिकॉर्ड

1964 में इंग्लैंड के खिलाफ चेन्नई में खेले गए टेस्ट में भारतीय स्पिनर बापू नाडकर्णी ने टेस्ट क्रिकेट में लगातार 21 ओवर मेडन फेंकने का रिकॉर्ड बनाया था. नाडकर्णी ने इस मैच में 32 ओवर में सिर्फ 5 रन दी थे और इस दौरान उन्होंने 27 ओवर मेडन फेंके थे। क्रिकेट के इतिहास में अभी तक इस रिकॉर्ड को कोई नहीं तोड़ सका है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story