Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

1983 फाइनल में मोहिंदर अमरनाथ बने थे मैन ऑफ द मैच, बैटिंग और गेंदबाजी दोनों में दिखाया था जलवा

1983 World Cup Final : दोनों वर्ल्ड कप फाइनल में वेस्ट इंडीज ने क्रमश ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के खिलाफ बड़ा स्कोर बनाते हुए जीत दर्ज की थी। लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने इस मजबूत टीम को 183 रनों के जवाब में 140 रनों पर आल आउट कर दिया।

1983 फाइनल में मोहिंदर अमरनाथ बने थे मैन ऑफ द मैच, बैटिंग और गेंदबाजी दोनों में दिखाया था जलवा
X
1983 फाइनल में मोहिंदर अमरनाथ बने थे मैन ऑफ द मैच

1983 World Cup Final : भारतीय क्रिकेट इतिहास (Cricket History) में आज बहुत बड़ा दिन है, और इस दिन को शायद कोई हिन्दुस्तानी अपने दिल से नहीं निकाल सकता। क्योंकि आज भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) ने इतिहास रचते हुए दो बार की चैंपियन वेस्ट इंडीज को हराते हुए अपना पहला विश्व कप (1983 Cricket World Cup Final) जीता था।

कपिल देव (Kapil Dev) की अगुवाई में भारतीय क्रिकेट टीम ने वेस्ट इंडीज (India vs West Indies 1983) को 43 रनों से हराया था। इस जीत में कप्तान कपिल देव का बहुत बड़ा योगदान था, उन्होंने ही 183 रनों के छोटे लक्ष्य का बचाव करने के लिए भारतीय क्रिकेटर्स को मोटीवेट किया था।

इससे पहले खेले गए दोनों वर्ल्ड कप फाइनल में वेस्ट इंडीज ने क्रमश ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के खिलाफ बड़ा स्कोर बनाते हुए जीत दर्ज की थी। लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने इस मजबूत टीम को 183 रनों के जवाब में 140 रनों पर आल आउट कर दिया।

मोहिंदर अमरनाथ ने खेली थी विजयी पारी

भारतीय बल्लेबाज मोहिंदर अमरनाथ (Mohinder Amarnath Cricketer) ने 1983 वर्ल्ड कप फाइनल में शानदार बल्लेबाजी करने के बाद गेंदबाजी से भी कमाल खेल दिखाया था। मोहिंदर अमरनाथ ने तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 26 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेली थी, वहीं गेंदबाजी में उन्होंने 3 विकेट चटके थे।

मोहिंदर ने दुजोन, मार्शल, और होल्डिंग को आउट किया था, और इस तरह भारतीय क्रिकेट टीम अपना पहला वर्ल्ड कप जीती थी। मोहिंदर अमरनाथ को उनकी बेहतरीन पारी के लिए मैन ऑफ द मैच का खिताब भी दिया गया था।

Next Story