Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

IND vs WI: विराट कोहली ने रचा इतिहास, कई रिकॉर्ड किए अपने नाम

India VS West Indies 2019: भारत ने रविवार को एंटीगा में पहले टेस्ट में वेस्टइंडीज को 318 रनों से हराकर अपने ICC विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप अभियान की शानदार शुरुआत की। इस जीत के साथ ही विराट कोहली टेस्ट क्रिकेट में भारत के सबसे सफल कप्तान बन गए। उन्होंने बतौर कप्तान एमएस धोनी के सर्वाधिक 27 टेस्ट जीत के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली।

IND vs WI: विराट कोहली ने रचा इतिहास, कई रिकॉर्ड किए अपने नाम

India VS West Indies 2019 भारत बनाम वेस्टइंडीज 2019 भारत ने रविवार को एंटीगा में पहले टेस्ट में वेस्टइंडीज को 318 रनों से हराकर अपने ICC विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप अभियान की शानदार शुरुआत की। इस जीत के साथ ही विराट कोहली ने बतौर कप्तान कई रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए। इस जीत के साथ ही विराट कोहली टेस्ट क्रिकेट में भारत के सबसे सफल कप्तान बन गए।

उन्होंने बतौर कप्तान एमएस धोनी के सर्वाधिक 27 टेस्ट जीत के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली। 2014 में ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान खेल के सबसे लंबे प्रारूप से धोनी के संन्यास लेने के बाद कोहली ने भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान के रूप में पदभार संभाला था। तब से उन्होंने देश और विदेशों में टीम इंडिया को कई ऐतिहासिक जीत दिलाई।


धोनी ने 60 टेस्ट मैचों में भारत का नेतृत्व किया था जिसमें उनका जीत का प्रतिशत 45 था। उन्होंने अपनी कप्तानी में 27 टेस्ट मैच जीते, 18 हारे और 15 ड्रॉ पर समाप्त हुए। विराट कोहली ने अब 47 टेस्ट मैचों में भारत का नेतृत्व किया है और उनका जीत प्रतिशत 55.31 है, जो सबसे लंबे प्रारूप में अन्य सभी भारतीय कप्तानों में सर्वश्रेष्ठ है।

विराट कोहली ने अपनी कप्तानी में 27 टेस्ट मैच जीते, 10 हारे और 10 ड्रॉ पर समाप्त हुए। सौरव गांगुली 49 मैचों में 21 जीत, 13 हार और 15 ड्रॉ के साथ तीसरे स्थान पर हैं। इतना ही नहीं विराट कोहली कप्तान के रूप में भारत के लिए विदेशी सरजमीं पर सबसे अधिक टेस्ट जीत के मामले में सौरव गांगुली से भी आगे निकल गए। कोहली ने विदेशी सरजमीं पर बतौर कप्तान 26 मैचों में 12 जीत हासिल की है जबकि सौरव गांगुली के 28 मैचों में 11 जीत थे।


बता दें कि एंटीगुआ टेस्ट की अंतिम पारी में विंडीज की पारी 100 के स्कोर पर सिमट गई, जो भारत के खिलाफ सबसे लंबे प्रारूप में उनका सबसे कम कुल स्कोर भी है। भारत के खिलाफ उनका पिछला सबसे कम कुल स्कोर 2006 में किंग्स्टन में 103 रन था।

इससे पहले भारत ने अजिंक्य रहाणे और हनुमा विहारी के शानदार पारियों की बदौलत 7 विकेट पर 343 रन बनाकर अपनी दूसरी पारी घोषित की। रहाणे ने 242 गेंदों में 102 रन बनाए, जबकि विहारी ने 128 गेंदों में 93 रन बनाए। भारत ने पहली पारी में 297 रन बनाए थे जबकि वेस्टइंडीज की पहली पारी महज 222 रनों पर सिमट गई थी।

Next Story
Share it
Top