Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पाक एक्ट्रेस की फोटो लगाकर फैलाता था धार्मिक उन्माद, खूबसूरती देखकर अफसर भेजते थे फ्रेंड रिक्वेस्ट

पाक एक्ट्रेस की फोटो बनाकर सोशल मीडिया पर निशा जिंदल के नाम से सोशल मीडिया फेसबुक पर फर्जी आईडी बनाने और धार्मिंक उन्माद फैलाने वाले गिरफ्तार आरोपी रवि पुजारी को शुक्रवार को कबीरनगर पुलिस ने कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे ज्यूडिशियल रिमांड पर सेंट्रल जेल भेज दिया गया।

रायपुर पुलिस पर आरोपियों के साथ साठ - गांठ का आरोप, कई महीनों से न्याय के लिए थाने का चक्कर काट रहा पीड़ितRaipur police is trying to save the accused said victim

पाक एक्ट्रेस की फोटो बनाकर सोशल मीडिया पर निशा जिंदल के नाम से सोशल मीडिया फेसबुक पर फर्जी आईडी बनाने और धार्मिंक उन्माद फैलाने वाले गिरफ्तार आरोपी रवि पुजारी को शुक्रवार को कबीरनगर पुलिस ने कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे ज्यूडिशियल रिमांड पर सेंट्रल जेल भेज दिया गया। इससे पहले शुक्रवार आधी रात आरोपी रवि पुजारी ने निशा जिंदल की आईडी पर फोटो शेयर कर लिखा, मैं ही निशा जिंदल हूं और रायपुर पुलिस की कस्टडी में हूं।

जब फाॅलोवर और फ्रेंड को पता चला कि जो निशा जिंदल बनकर आईडी संचालित कर रही थी, वह असल में निशा जिंदल नहीं, बल्कि इंजीनियरिंग पास न करने वाला युवक आरोपी रवि पुजारी है, इससे उसके फाॅलोवर और फ्रेंड चौंक गए और कमेंट करने का सिलसिला शुरू हो गया। ये वही लोग हैं, जो निशा जिंदल की फेसबुक आईडी की पोस्ट पर लाइक और कमेंट की भरमार लगा देते थे। साथ ही आधी रात तक मैसेंजर में उसके साथ प्यार का इजहार करते थे।

8 साल से ऑपरेट करता था आईडी

पुलिस के मुताबिक आरोपी निशा जिंदल उर्फ रवि पुजारी की फेसबुक आईडी काे खंगालने पर चौंकाने वाले तथ्य सामने आए। करीब 2012 से निशा जिंदल नाम की आईडी एक्टिव थी, जिसमें करीब 10 हजार से अधिक फाॅलोवर और 4 हजार फ्रेंड थे। इसमें रायपुर के बड़े पत्रकार, आईपीएस, नामचीन डॉक्टरों समेत अन्य बड़ी हस्तियां हैं, जो पोस्ट डालने के साथ ही लाइक व कमेंट करते थे। चाहे वह धार्मिक मामले पर हो या फिर सुंदर मॉडल की फोटो अपलोड हो।

ऐेसे किए कमेंट

पुलिस के मुताबिक निशा जिंदल के नाम की आईडी पर आरोपी रवि पुजारी की फोटो शेयर होने के बाद फाॅलोवर और फ्रेंड्स में से कईयों ने लिखा कि अपने फेसबुक में एक मुंह बिगाड़े हुए लड़के की फोटो क्यों पोस्ट की तो कुछ ने जीवनभर अनजान लड़की से सोशल मीडिया मंच पर दोस्ती नहीं करने की कसम खाने का मैसेज पोस्ट किया।

300 लोग फ्रेंड लिस्ट से गायब

निशा जिंदल उर्फ आरोपी रवि की फर्जी फेसबुक आईडी खंगाली गई तो उसकी फ्रेंड लिस्ट में कई नामचीन रिपोर्टर मिले, जो रोज उन पुलिस अफसराें से मिलते थे। साथ ही वे भी निशा जिंदल को अपना बेहद करीबी दोस्त मानते थे। इस फर्जीवाड़े का भांडा फूटने के बाद 24 घंटे में करीब 300 फ्रेंड गायब हो गए, लेकिन फाॅलोवर की संख्य में कमी नहीं आई है।

Next Story
Top